खोज

यूक्रेन से रोमानिया जाते शरणार्थी यूक्रेन से रोमानिया जाते शरणार्थी  (REUTERS)

यूक्रेन ˸ हंगरी में शरणार्थियों से कार्डिनल चेरनी की मुलाकात

समग्र मानव विकास हेतु गठित परमधर्मपीठीय परिषद के अंतरिम अध्यक्ष कार्डिनल चेरनी ने संत पापा फ्राँसिस का प्रतिनिधित्व करते हुए 8 मार्च को, यूक्रेन के शरणार्थियों एवं उनकी मदद करनेवाले लोगों से मिलने हंगरी की राजधानी बुद्ढापेस्ट के लिए प्रस्थान किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

यूक्रेन, मंगलवार, 8 मार्च 2022 (रेई) ˸ रविवार के देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा फ्राँसिस ने यूक्रेन की स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा था, "परमधर्मपीठ, देश में शांति प्राप्ति की सेवा में वह सब कुछ करने के लिए तैयार है, जितना वह कर सकता है।"

संत पापा ने यह भी घोषणा की थी कि वे दो कार्डिनलों को यूक्रेन के पीड़ित लोगों के प्रति कलीसिया की एकात्मता व्यक्त करने के लिए भेज रहे हैं ˸ संत पापा के परोपकारी कार्यालय के अध्यक्ष कार्डिनल कॉनराड क्रजेवेस्की एवं समग्र मानव विकास हेतु गठित परमधर्मपीठीय परिषद के अंतरिम अध्यक्ष कार्डिनल माइकेल चरनी वहाँ जायेंगे।

संत पापा ने यह भी कहा था कि दोनों कार्डिनल जरूरतमंद लोगों की मदद करेंगे और यूक्रेन के लोगों के लिए न केवल पोप की उपस्थिति बल्कि सभी ख्रीस्तियों की एकात्मता को यह कहने के लिए व्यक्त करेंगे, कि "युद्ध पागलपन है! इसे रोको।"

दो कार्डिनलों का मिशन

कार्डिनल कॉनराड क्रजेवस्की अपने मिशन के साथ सोमवार को पौलैंड की सीमा स्थित डोरोहस्क पहुँचे जहाँ करीब एक लाख शरणार्थी पहुँच चुके हैं। वहाँ उन्होंने सभी स्वयंसेवकों एवं शरणार्थियों को पोप की श्वेत रोजरी भेंट की। उसके बाद वे प्रेजेमोस्ल रेलवे स्टेशन की ओर बढ़े जहाँ कीव एवं लविव से शरणार्थियों के साथ ट्रेनें पहुँचने वाली हैं।   

उधर कार्डिनल चेरनी मंगलवार को हंगरी पहुँचेंगे और यूक्रेन से आ रहे शरणार्थियों का स्वागत करनेवाले केद्रों का दौरा करेंगे।

इस मिशन के साथ, दोनों कार्डिनल यूक्रेनवासियों की पीड़ा और लंबे समय तक संघर्षों के बीच उनकी दयनीय स्थिति की ओर दुनिया का ध्यान आकर्षित करेंगे जहाँ दुनिया का ध्यान कम जाता है।

हंगरी प्रस्थान करने से पहले कार्डिनल चरनी ने मिशन के बारे वाटिकन न्यूज से बातें कीं, जिनमें सीमाओं पर और पड़ोसी देशों में मानव तस्करी एवं आप्रवासियों की तस्करी की बढ़ती गतिविधियों की रिपोर्ट के बारे में भी चिंता व्यक्त करना शामिल होगा।

प्रार्थना एवं सामीप्य की एक मुलाकात

उन्होंने कहा, "यह छोटा दौरा प्रार्थना की ठोस अभिव्यक्ति, भविष्यवाणी की अपील, एक विलाप प्रकट करना है, आप कह सकते हैं कि यूक्रेन में जो हो रहा है उसके लिए संत पापा, पूरा ख्रीस्तीय समुदाय, अन्य धर्मों के लोग एवं भली मानसिकता रखनेवाले लोग रो रहे हैं और शोक मना रहे हैं। अतः उन्हें देखने, सुनने जाना, उनके लिए चिंता व्यक्त करने का ठोस उपाय है। यही हमारा छोटा मिशन है।  

पलायन करनेवाले लोगों पर ध्यान केंद्रित

कार्डिनल चेरनी ने बतलाया कि उनका पहला ध्यान यूक्रेन के उन लोगों पर दिया जाएगा जो भाग रहे हैं और जो सब कुछ छोड़कर सीमा पार कर रहे हैं।

उन्होंने यूक्रेन में पढ़ने और काम करनेवाले अफ्रीका एवं एशिया के लोगों के लिए भी चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा, "वे भी भागने के लिए मजबूर हैं और यह बहुत महत्वपूर्ण है कि उन्हें भी दूसरों की तरह स्वागत, सुरक्षा एवं सहायता मिल सके। यह भी एक महत्वपूर्ण चिंता का विषय है।"  

मानव तस्करी का संकट

पत्रकारों से मानव तस्करी के बारे में बातें करते हुए कार्डिनल चेरनी ने कहा कि हमें इसके लिए बड़ी चिंता है कि संघर्ष और उलझन के समय में इसे रोका नहीं जा सकेगा, जो मानव तस्करों का एक भ्रष्ट कार्य है और जो कमजोर लोगों को मदद का झूठा आश्वासन देकर उन्हें गुलाम बनाने की कोशिश करते तथा उन्हें नयी मुश्किलताओं में डालते हैं।

अपनी यात्राओं के दौरान कार्डिनल यह सुनिश्चित करेंगे कि अलग ख्रीस्तीय समुदायों एवं अलग धर्मों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए, सभी लोगों को धार्मिक सहायता मिल सके।

वे यह भी ध्यान देंगे कि लोगों के कष्टों में सहानुभूति रखने और प्रभावी राहत प्रदान करने के लिए समन्वय, अच्छे संगठन एवं साझा रणनीति अपनायी जाए ताकि मानवीय सहायता के कार्य जारी रह सकें।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

08 March 2022, 15:08