खोज

पोलैंड वारसॉ वेस्ट ट्रेन स्टेशन पर यूक्रेनी शरणार्थी पोलैंड वारसॉ वेस्ट ट्रेन स्टेशन पर यूक्रेनी शरणार्थी  (ANSA)

कार्डिनल क्रेजेवस्की द्वारा यूक्रेन के पीड़ितों को संत पापा की निकटता

संत पापा की ओर से परमधर्मपीठीय कोष के दानदाता कार्डिनल क्रेजेवस्की रविवार दोपहर को पोलैंड के लिए प्रस्थान की। यूक्रेन की यात्रा करने के लिए यूक्रेनी लोगों और शरणार्थियों की मदद करने वाले स्वयंसेवकों का समर्थन करने के एक मिशन को पूरा करने के लिए यात्रा कह रहे है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 07 मार्च 2022 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा की ओर से परमधर्मपीठीय कोष के दानदाता कार्डिनल क्रेजेवस्की की यात्रा कार्यक्रम अनिश्चित है, लेकिन उद्देश्य स्पष्ट है: "पीड़ित लोगों तक पहुंचने के लिए और उन्हें संत पापा की निकटता लाने के लिए, उन्हें यह बताने के लिए कि संत पाप उनसे प्यार करते हैं और उनके साथ प्रार्थना करते हैं, क्योंकि प्रार्थना युद्ध को भी रोक सकती है।"

संत पापा की ओर से परमधर्मपीठीय कोष के दानदाता कार्डिनल कोनराड क्रेजेवस्की, जो हाल ही में यूक्रेनी समुदाय के लिए सहायता पैकेज लाने के लिए 3 मार्च को सांता सोफिया गए थे। संत पापा उन्हें लोगों के लिए सामग्री और आध्यात्मिक समर्थन देने हेतु यूक्रेन भेज रहे हैं। यूक्रेन ग्यारह दिन से बम और आतंक के साये में जी रहा है।

अभिन्न मानव विकास को बढ़ावा देने के लिए बने विभाग के अंतरिम प्रीफेक्ट कार्डिनल माइकेल चरणी भी कार्डिनल क्रेजेवस्की के साथ रवाना हुए।

जैसा कि संत पापा ने देवदूत प्रार्थना के दौरान कहा था, कि यह एक वास्तविक मिशन है, "परमधर्मपीठ सब कुछ करने के लिए तैयार है, खुद को इस शांति की सेवा में लगाने के लिए तैयार है।"

संत पापा ने कहा, " दो कार्डिनलों की उपस्थिति में न केवल संत पापा की उपस्थिति है, बल्कि सभी ख्रीस्तीय हैं जो करीब जाना चाहते हैं संत पापा कहते हैं: 'युद्ध पागलपन है! रुको, कृपया! इसकी क्रूरता को देखो!"

कार्डिनल क्रेजेवस्की ने वाटिकन न्यूज से यूक्रेन में अपने मिशन के बारे में बात की, जिसका पूरा प्रतिलेख नीचे है:

प्रश्न: महामहिम, कुछ ही घंटों में आप घायल यूक्रेन में संत पापा का प्रतिनिधित्व करने के मिशन पर होंगे। आपको कैसा लग रहा हैं, किन भावनाओं से गुजर रहे हैं?

संत पापा सुसमाचार के तर्क का उपयोग करते हैं और उन लोगों के करीब हो जाते हैं जो बीमार हैं, जो मारे गए हैं, जो अपने देश से विस्थापित हो गए हैं। मैं जल्द ही जा रहा हूँ और मैं पोलैंड जा रहा हूं, क्योंकि पोलैंड से मुझे यकीन है कि मैं यूक्रेन में प्रवेश कर पाऊंगा।

फिर हम देखेंगे कि हम इन लोगों तक पहुँचने और उन्हें संत पापा की निकटता दिखाने के लिए कितनी दूर जा सकते हैं। मैं यह करने के लिए उनके पास जा रहा हूँ कि संत पापा उनसे प्यार करते हैं, कि वे उनके लिए प्रार्थना करते हैं और उन्हें धीरज देना चाहते हैं। मैं संत पापा की रोजरियाँ देने के लिए भी जा रहा हूँ क्योंकि प्रार्थना से हम पहाड़ों को हिला सकते हैं और युद्ध को भी रोक सकते हैं।

प्रश्न: आप मुख्य रूप से किसको सहायता प्रदान करेंगे?

मुझे नहीं पता... युद्ध की स्थिति है, इसलिए मुझे नहीं पता कि मैं किस तक पहुंच पाऊंगा। जैसा कि हम हर घंटे परिस्थिति को बदलता हुआ देखते हैं।

निश्चित रूप से, मैं संत पापा का आशीर्वाद देने के लिए अधिक से अधिक लोगों से मिलने की कोशिश करूंगा और मैं उन स्वयंसेवकों के भी करीब रहना चाहता हूँ, जो सीमा पर शरणार्थियों की मदद करते हैं। पहले ही 800,000 पोलैंड में प्रवेश कर चुके हैं।

प्रश्न: क्या आप पोलैंड से कीव जाएंगे?

 सीमा पर हमें देखना पड़ेगा कि वहां कैसी संभावनाएं हैं। हम जानते हैं कि कीव के मेयर ने सभी धर्मसंघियों लोगों से पूछा है कि क्या वे आ सकते हैं और उनके साथ प्रार्थना कर सकते हैं और प्रार्थना के माध्यम से शहर की रक्षा कर सकते हैं।

प्रश्न: एक व्यक्तिगत प्रश्न: क्या आप डरते हैं?

नहीं, जैसा कि मैंने कहा, मैं सुसमाचार के बारे में सोचता हूँ। मैं संत पापा की तरह, सुसमाचार के तर्क का उपयोग करना चाहता हूँ।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

07 March 2022, 15:55