खोज

Vatican News
गाज़ा पर हमला गाज़ा पर हमला  (ANSA)

गाज़ा और इस्राएल में लड़ाई तेज

तेल अविव और गाज़ा में हिंसा बहुत अधिक बढ़ गई है। संयुक्त राष्ट्र को आशंका है कि स्थिति नियंत्रण से बाहर होकर युद्ध का रूप न ले ले।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

येरूसालेम, बृहस्पतिवार, 13 मई 2021 (वीएनएस)- बुधवार की सुबह रॉकेट की आग ने धुंधले आसमान को रोशन कर दिया जब इस्राएल और हमास के बीच हिंसक हमले हुए।

इज़राइल ने गाजा में हवाई हमले को अंजाम दिया जबकि फिलिस्तीनी आतंकवादियों ने तेल अवीव और दक्षिणी शहर बीरर्शेबा में कई रॉकेट दागे।

सोमवार को हिंसा तेज होने के बाद से इस्राएल में 6 लोग मारे गये हैं और गाज़ा में करीब 43 लोगों की मौत हुई है।

विनाश और क्षति

हमास के नियंत्रण वाले एन्क्लेव में, जब अंदर के लोगों को बाहर निकाला गया तो एक आवासीय टावर ब्लॉक ढह गया। भारी बमबारी के बाद एक और इमारत बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई।

इस बीच, एक इस्राएली की मौत हुई जब उत्तरी गाजा पट्टी से दागी गई, एक टैंक रोधी निर्देशित मिसाइल ने एक जीप को टक्कर मारी। इज़राइल ने कहा कि हवाई हमलों ने बुधवार तड़के इस्लामिक समूह हमास के खुफिया नेताओं के कई ठिकानों को निशाना बनाया और मार दिया।

चौतरफा युद्ध की आशंका

गाज़ा में 2014 में हुए युद्ध के बाद इस्राएल एवं हमास के बीच, यह सबसे बड़ी टक्कर है और संयुक्त राष्ट्र को आशंका है कि इस नवीनतम वृद्धि से चौतरफा युद्ध हो सकता है।

मध्यपूर्व के लिए संयुक्त राष्ट्र के राजदूत तोर वेन्नेस्लैंड ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र शांति स्थापित करने के लिए सभी पक्षों के साथ काम कर रही थी जबकि संयुक्त राष्ट्र महासचिव, एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि वे जारी हमले को लेकर "गंभीर रूप से चिंतित" है।

तनाव में वृद्धि

हिंसा में वृद्धि रमज़ान के मुस्लिम उपवास महीने के दौरान येरूसालेम में इस्राएली पुलिस एवं फिलिस्तीनी प्रदर्शनकारियों के बीच अल अक्सा मस्जिद के आसपास, हफ्ते भर के तनाव के बाद हुई है।

दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के साथ टकराव के समय कड़े बयानबाजी का उपयोग किया है। इस्राएल के प्रधानमंत्री बेनयामिन नेतनयाहू ने कहा है कि "रॉकेट हमलों के लिए आतंकवादियों को "बहुत भारी" कीमत चुकानी पड़ेगी।"

इस बीच हमास नेता इस्माएल हनियेह ने कहा, "अगर वे बढ़ना चाहते हैं, तो प्रतिरोध तैयार है, अगर वे रोकना चाहते हैं, तो प्रतिरोध तैयार है।"

13 May 2021, 15:23