खोज

Vatican News
नाईजीरिया का बोर्डिंग स्कूल जहाँ से बालिकाओं का अपहरण कर लिया गया था नाईजीरिया का बोर्डिंग स्कूल जहाँ से बालिकाओं का अपहरण कर लिया गया था  (AFP or licensors)

नाईजीरिया के अपहृत विद्यार्थी रिहा किये गये

सरकारी अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार नाईजीरिया में शुक्रवार को अपहृत 317 छात्राओं को रिहा कर दिया गया है। हफ़्ते भर से भी कम समय में यह दूसरी बार है जब अज्ञात बंदूकधारियों ने स्कूली बच्चों का अपहरण किया और रिहा किया है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

नाईजीरिया, मंगलवार, 2 मार्च 2021 (रेई)- सरकारी अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार नाईजीरिया में शुक्रवार को अपहृत 317 छात्राओं को रिहा कर दिया गया है। हफ़्ते भर से भी कम समय में यह दूसरी बार है जब अज्ञात बंदूकधारियों ने स्कूली बच्चों का अपहरण किया और रिहा किया है।

स्थानीय अधिकारी ने मंगलवार को बतलाया कि पिछले सप्ताह उत्तरी नाईजीरिया में अज्ञात बंदूकधारियों ने जिन विद्यार्थियों का स्कूल से अपहरण कर लिया था उनको रिहा कर दिया है। 

विद्यार्थियों को जामफारा के शासकीय कन्या माध्यमिक स्कूल से शुक्रवार को अपहरण कर लिया गया था। एक सप्ताह के अंदर यह दूसरी बार था जब छात्राओं का अपहरण किया गया था।

कुछ दिनों पहले करीब 40 लोगों का अपहरण किया गया था जिसमें स्कूल के शिक्षक एवं उनके परिवार के सदस्य थे। उन्हें नाईजर के बालक बोर्डिंग स्कूल से अपहरण किया गया था और शनिवार को रिहा किया गया।

मंगलवार को ट्वीटर अकाऊंट पर बालिकाओं की रिहाई की पुष्टि देते हुए, जामफारा के राज्यपाल बेल्लो मातावाल्ले ने लिखा, "यह घोषित करते हुए मुझे हार्दिक आनन्द हो रहा है कि जेजेएसएस यांजेबे के छात्राओं की अपहरण से रिहाई हो गई है।"

संत पापा फ्राँसिस की अपील

रविवार को अपने देवदूत प्रार्थना के दौरान संत पापा फ्राँसिस ने बोर्डिंग स्कूल से छात्राओं के "नीच अपहरण" की निंदा की थी तथा उनकी जल्द वापसी के लिए सभी विश्वासियों को प्रार्थना करने का निमंत्रण दिया था।  

उन्होंने कहा था, "मैं उनके तथा उनके परिवारवालों के करीब हूँ। आइये हम माता मरियम से प्रार्थना करें कि वे उन्हें सुरक्षित रखें।"

पहली बार नहीं

स्कूल से विद्यार्थियों के अपहरण की घटनाएँ इन दिनों बढ़ गई हैं जो कई माता-पिताओं के लिए चिंता का विषय बन गयी है, खासकर उनके लिए जो अपने बच्चों को बोर्डिंग स्कूलों में डालते हैं। पहले चरमपंथी जिहादी समूहों द्वारा अपनायी गयी, रणनीति अब अन्य आतंकवादियों द्वारा अपनाई जा रही है, जिसका एजेंडा अस्पष्ट है। इसने दुर्भाग्य से, देश में असुरक्षा को बढ़ाने में योगदान दिया है, जहां फिरौती के लिए अपहरण एक बहुत फायदेमंद उद्योग बन रहा है।

दिसम्बर 2020 में करीब 300 लड़कों का अपहरण कातसिना के कानकारा में बंदुकधारियों द्वारा किया गया था। जहाँ नाईजीरिया के राष्ट्रपति मुहाम्मदू बुहारी का घर है। उस समय लड़कों को कुछ दिनों तक कैद में रखने के बाद रिहा किया गया था।  

दूसरा अपहरण मामला अप्रैल 2014 में हुआ था जब बोको हराम के जिहादी समूह ने 276 बालिकाओं का अपहरण किया था।

राष्ट्रपति बुहारी ने देश की बढ़ती असुरक्षा की चुनौतियों के बीच फरवरी में अपने लंबे सैन्य प्रमुखों को बदल दिया है।

02 March 2021, 15:55