खोज

Vatican News
संत पेत्रुस महागिरजाघर में मिस्सा का अनुष्ठान करते हुए संत पापा फ्राँसिस संत पेत्रुस महागिरजाघर में मिस्सा का अनुष्ठान करते हुए संत पापा फ्राँसिस  (Copyright 2020 The Associated Press. All rights reserved)

महामारी के समय में पवित्र सप्ताह धर्मविधियों के संबंध में नियम

दिव्य उपासना के लिए बने परमधर्मपीठीय धर्मसंघ संकेत देता है कि महामारी के इस समय में पवित्र सप्ताह की धर्म विधियों को मनाने के लिए 25 मार्च 2020 में दिये गये नियम मान्य हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 17 फरवरी 2021 (वाटिकन न्यूज) : कोविद -19 महामारी के कारण "धर्मविधि समारोहों को मनाने के सामान्य तरीके में भी कई बदलाव लाए गये हैं।": दिव्य उपासना और संस्कार संबंधी परमधर्मपीठीय धर्मसंघ के अध्यक्ष, कार्डिनल रॉबर्ट साराह और सचिव महाधर्माध्यक्ष आर्थर रोचे द्वारा हस्ताक्षरित नियम को विश्व के धर्माध्यक्षों और धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों को भेजा गया। यह  हमें याद दिलाता है कि "कई देशों में अभी भी बंद होने की सख्त शर्तें हैं, जो कि विश्वासियों को गिरजाघरों में उपस्थित होना असंभव बनाते हैं, महामारी के इस समय में पवित्र सप्ताह की धर्म विधियों को मनाने के लिए 25 मार्च 2020 में दिये गये नियम मान्य हैं, जबकि कुछ देशों में धर्मविधि समारोहों को सामान्य रुप से शुरू किया जा रहा है।"

पत्र में बताया गया है कि कैसे सोशल मीडिया ने स्थानीय कलीसिया को "महामारी के दौरान अपने समुदायों को समर्थन देने और निकटता प्रदान करने में मदद की है।" मीडिया आउटरीच उन विश्वासियों को आगे बढ़ाता है और प्रोत्साहित करता है जो एकता के संकेत के रूप में अपने गिरजाघर में सामूहिक धर्मविधि में शामिल होने में असमर्थ हैं।


पत्र में विश्वासियों द्वारा पवित्र मिस्सा में भौतिक रुप से उपस्थिति के माध्यम से ख्रीस्तीय जीवन के एक सामान्य अनुभव पर लौटने के महत्व को याद करता है, जहां परिस्थितियां अनुमति देती हैं, जैसा कि पिछले साल अगस्त के एक पत्र में उल्लेख किया गया था कि धर्मसंघ ने धर्माध्यक्षों और धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों को संबोधित कर कहा था कि "आइये, हम खुशी के साथ पवित्र यूखरिस्त समारोह में फिर से भाग लें!"

अंत में, पत्र कहता है कि यदि आवश्यक हो तो क्रिस्मा मिस्सा को एक उपयुक्त दिन में ले जाया जा सकता है और परिवारिक तथा व्यक्तिगत प्रार्थना के लिए उपयुक्त सहायता को प्रोत्साहित किया जाता है।

17 February 2021, 16:00