खोज

Vatican News
टेउटोनिक कब्रिस्थान में जांच प्रक्रिया टेउटोनिक कब्रिस्थान में जांच प्रक्रिया   (AFP)

ओरलांदी मामला : 19वीं सदी के बाद की कोई हड्डियां नहीं

वाटिकन प्रेस कार्यालय ने वाटिकन में टेउटोनिक कब्रिस्थान में जांच प्रक्रिया पर एक बयान जारी किया है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 29 जुलाई, 2019 (रेई) : वाटिकन प्रेस कार्यालय ने घोषणा की है कि टेउटोनिक कब्रिस्तान में जाँच प्रक्रिया समाप्त हो गई है। कब्रिस्तान में खुदाई इस महीने के प्ररांभ में शुरू हुई थी जब एक अनाम व्यक्ति ने सुझाव दिया था कि 1983 में गायब हुई एक वाटिकन कर्मचारी की बेटी इमानुला ओरलांदी को टेउटोनिक कब्रिस्तान में दफनाया गया था।

इस महीने की शुरुआत में खोले गए, दो मेहराबदार छत वाले कब्रों में कई सौ आंशिक रूप से बरकरार हड्डी संरचनाएं, और हजारों टुकड़े पाए गए।  प्रोफेसर जिवान्नी अर्बुदी के नेतृत्व में एक टीम द्वारा किए गए अवशेषों के एक रूपात्मक विश्लेषण ने निर्धारित किया कि अवशेषों में से कोई भी 19वीं शताब्दी के बाद की हड्डियां नहीं थी।

ओरलांदी परिवार द्वारा नामित एक विशेषज्ञ हड्डी के टुकड़ों की खुदाई और उसके बाद के मूल्यांकन के दौरान मौजूद था। परिवार के एक वकील ने लगभग 70 हड्डी के टुकड़ों को प्रयोगशाला परीक्षणों के अधीन करने का अनुरोध किया है। यद्यपि अतिरिक्त परीक्षण के लिए अनुरोध को प्रोफेसर अर्कुडी द्वारा समर्थित नहीं किया गया, फिर भी नमूनों को एकत्र कर जेंडरमेरी के अधीन में रखा गया।

वाटिकन प्रेस कार्यालय के एक बयान में कहा गया है कि वाटिकन संचार ने जांच के विवरण की पुष्टि की है कि वाटिकन को "इमानुला ओरलांदी के लापता होने के बारे में सच्चाई की तलाश करने की इच्छा है।" साथ ही, उसने  अपने सहयोग और पारदर्शिता के साथ जिम्मेदारी को निभाया है।

बयान में जोर दिया गया है, "सत्य की खोज वाटिकन और ओरलांदी परिवार के हित में है।"

29 July 2019, 16:58