खोज

लंदन के पवित्र परिवार गिरजाघर में यूक्रेन के लए प्रार्थना करते हुए विश्वासी लंदन के पवित्र परिवार गिरजाघर में यूक्रेन के लए प्रार्थना करते हुए विश्वासी  (AFP or licensors)

यूक्रेन में युद्ध: संत पापा चिंता व्यक्त करने रूसी दूतावास गए

संत पापा फ्राँसिस ने शुक्रवार को रोम में विया देल्ला कॉन्सिलियाज़ियोने के रूसी दूतावास में आधे घंटे से अधिक समय बिताया। एक दिन पहले, वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल पिएत्रो पारोलिन ने बातचीत को अधिक स्थान देने की अपील की थी।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 26 फरवरी 2022 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस यूक्रेन में युद्ध के बारे में अपनी चिंता व्यक्त करने हेतु शुक्रवार की दोपहर वाटिकन में रूसी दूतावास के मुख्यालय जाकर राजदूत श्री अलेक्जेंडर अवदीव से मुलाकात की। वाटिकन प्रेस कार्यालय के निदेशक मत्तेओ ब्रूनी ने पुष्टि की कि संत पापा फ्राँसिस एक सफेद कार से विया देल्ला कॉन्सिलियाज़ियोने पहुंचे और  रूसी दूतावास में आधे घंटे से अधिक समय तक रहे।

आम दर्शन समारोह के दौरान अपील

संत पापा फ्राँसिस पूर्वी यूरोपीय देश में स्थिति की बारीकी से निरीक्षण कर रहे हैं, जहाँ पर 24 फरवरी की रात से हमले हो रहे हैं, कई लोग मारे जा चुके हैं और घायल हो चुके हैं। रूसी आक्रमण शुरू होने से पहले बुधवार को आम दर्शन समारोह के दौरान संत पापा ने देश में बिगड़ती स्थिति पर "अपने दिल के दुख" व्यक्त किया था।


संत पापा ने "राजनीतिक जिम्मेदार लोगों से अपील की कि वे ईश्वर के सामने अपने विवेक की गंभीरता से जांच करें, वे शांति के ईश्वर हैं और युद्ध के नहीं।" और उन्होंने विश्वासियों और गैर-विश्वासियों को समान रूप से प्रार्थना और उपवास के द्वारा अगले 2 मार्च,राख बुधवार को शांति के लिए एक संयुक्त प्रार्थना में एकजुट होने का आह्वान किया। संत पापा ने कहा, "येसु ने हमें सिखाया कि हिंसा की शैतानी संवेदनहीनता का उत्तर ईश्वर के हथियारों, प्रार्थना और उपवास के साथ दिया जाता है। मैं सभी को अगले 2 मार्च, राख बुधवार  शांति के लिए उपवास का दिन के रुप में व्यतीत करने के लिए आमंत्रित करता हूँ। मैं विश्वासियों को उस दिन प्रार्थना और उपवास में खुद को समर्पित करने के लिए विशेष रुप से प्रोत्साहित करता हूँ। शांति की रानी, युद्ध के पागलपन से दुनिया की रक्षा करें।"

कार्डिनल पारोलिन का बयान

कल, यूक्रेन के लिए "सबसे बुरे समय में", राज्य के सचिव कार्डिनल पिएत्रो पारोलिन ने यूक्रेनी क्षेत्र में रूसी "सैन्य अभियानों" की शुरुआत के बाद एक बयान जारी किया। संत पापा की तत्काल अपील को याद करते हुए, कार्डिनल ने कहा कि "दुखद परिदृश्य जिससे सभी डरते थे, दुर्भाग्य से वास्तविकता बन रहे हैं," लेकिन उनहोंने जोर देकर कहा, "सद्भावना के लिए अभी भी समय है, बातचीत के लिए अभी भी जगह है, अभ्यास के लिए अभी भी एक जगह है। एक ज्ञान जो पक्षपातपूर्ण हितों की प्रबलता को रोक सकता है, सभी की वैध आकांक्षाओं की रक्षा कर सकता है, और दुनिया को युद्ध की मूर्खता और भयावहता से बचा सकता है।”


कार्डिनल पारोलिन ने अपने वक्तव्य को समाप्त करते हुए कहा, "विश्वासियों के रूप में, हम उन लोगों के लिए अंतरात्मा की एक चमक हेतु अपनी आशा को नहीं खोते हैं जो दुनिया के भाग्य को अपने हाथों में लेते हैं और हम प्रार्थना और उपवास करना जारी रखते हैं, जैसा कि हम आने वाले राख बुधवार को यूक्रेन और पूरी दुनिया में शांति के लिए करेंगे।"

 

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

26 February 2022, 15:11