खोज

Vatican News
कोरोना- 19 की फाइजर बायोटेक टीका लेते हुए कोरोना- 19 की फाइजर बायोटेक टीका लेते हुए  ((c) Jennifer Gauthier 2020)

यूएस धर्माध्यक्षों द्वारा वैक्सीन पर कलीसिया का स्पष्टीकरण

यूएस काथलिक धर्माध्यक्षों ने वर्तमान में उपलब्ध कोविद-19 के टीकों के बारे में कलीसिया के विचारों को स्पष्ट करते हुए एक नया बयान जारी किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार16 दिसम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : जैसा कि संयुक्त राज्य अमेरिका कोविद-19 के खिलाफ सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के लिए तैयार हो रहा है, यूएस धर्माध्यक्षों ने वैक्सीन के संबंध में, जिसमें गर्भपात से उत्पन्न सेल लाइनों के कुछ संबंध हैं, कलीसिया की स्थिति को और स्पष्ट करने का फैसला किया है। वे याद दिलाते हैं कि महामारी की शुरुआत से एक वैक्सीन के विकास की हिमायत की गई है जिसका गर्भपात से कोई संबंध नहीं है।

14 दिसंबर को जारी एक बयान में, संयुक्त राज्य अमेरिका के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (यूएससीसीबी) की धर्म सिधांत समिति के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष केविन सी. रोड्स और यूएससीसीबी की जीवन समर्थक समिति के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष जोसेफ एफ. न्यूमैन ने दोहराया कि, संकट की तात्कालिकता को देखते हुए, "उपलब्ध वैकल्पिक टीकों की कमी और दशकों पहले हुए गर्भपात और आज निर्मित वैक्सीन प्राप्त करने के बीच का संबंध दूरस्थ है, इन परिस्थितियों में कोविद-19 का नया टीका नैतिक रूप से उचित हो सकता है।”

कलीसिया की शिक्षाओं के आधार पर

संत पापा जॉन पॉल द्वितीय के विश्वपत्र "हुमाने विताये" (मानव जीवन) के उद्धरण और जीवन के लिए परमधर्मपीठीय एकाडेमी और धर्म सिद्धांत के लिए बने धर्मसंघ के महत्वपूर्ण दस्तावेज के आधार पर बयान बताता है कि यह स्थिति जीवन की पवित्रता पर कलीसिया की लंबे समय से चली आ रही शिक्षाओं पर आधारित है। वाटिकन धर्मसंघ और पोंटिफिकल एकेडमी दोनों ने अच्छा करने के लिए सकारात्मक नैतिक दायित्व पर जोर दिया, किसी अन्य पार्टी के अनैतिक कार्य से जितना संभव हो उतना दूरी रखना, जैसे कि किसी और के बुरे कार्यों के साथ सहयोग करने और बदनामी से बचने के लिए गर्भपात कराना, जो हो सकता है, यदि किसी के स्वयं के कार्यों को अन्य लोगों द्वारा अनदेखा करने या कार्रवाई की बुराई को कम करने के लिए किया जाता था।

जिम्मेदारी का विभिन्न स्तर

धर्माध्यक्षों का कहना है, "हालांकि परमधर्मपीठ बताता है कि दूसरों के बुरे कार्यों में सहयोग देने की ज़िम्मेदारी के अलग-अलग स्तर हैं।" गंभीर स्वास्थ्य खतरा एक टीके के उपयोग को सही ठहरा सकता है जिसे अवैध उत्पत्ति की सेल लाइनों का उपयोग करके विकसित किया गया, जबकि यह ध्यान में रखते हुए कि हर किसी का कर्तव्य है कि वे अपनी असहमति से अवगत कराएं और यह पूछें कि उनकी स्वास्थ्य प्रणाली अन्य प्रकार के टीके उपलब्ध कराये।”

उपलब्ध विकल्प का अभाव

यूएस धर्माध्यक्षों के अनुसार, हालांकि अब अमेरिका में उपलब्ध फाइजर, मॉडर्ना और एस्ट्राजेनेका द्वारा निर्मित सभी तीन टीकों का गर्भपात से जुड़े सेल लाइनों से कुछ संबंध है, वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए उनका उपयोग नैतिक रूप से उचित होगा। ये हैं: वर्तमान में उपलब्ध वैकल्पिक वैक्सीन का अभाव "जिसका गर्भपात से बिल्कुल कोई संबंध नहीं है", सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए गंभीर खतरा है और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि बीमारी से अधिक कमजोर लोगों को बचाने की जरूरत है।

एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के संबंध में, यूएस धर्माध्यक्षों ने कहा कि यह अन्य दो की तुलना में "अधिक नैतिक रूप से समझौता किया गया है और इसलिए यदि विकल्प उपलब्ध हैं तो उससे "बचा जाना चाहिए"। हालांकि, अगर "किसी के पास वास्तव में वैक्सीन का विकल्प नहीं है, तो बिना देरी के टीका ले लेना चाहिए।

गर्भपात के खिलाफ चेतावनी

बयान गर्भपात के खिलाफ काथलिक को चेतावनी देता है: “नए टीकों के साथ खुद को और हमारे परिवारों को कोविद-19 के खिलाफ प्रतिरक्षित होने के दौरान नैतिक रूप से स्वीकार्य है और दूसरों के प्रति प्रेम और दान का कार्य हो सकता है, परंतु हम गर्भपात की गंभीर अनैतिक प्रकृति को अनुमति नहीं देते हैं।” इसलिए धर्माध्यक्षों ने "गर्भपात की बुराई का विरोध करने और भ्रूण कोशिकाओं का बाद के अनुसंधान में उपयोग" नहीं करने की चेतावनी दी।

16 December 2020, 14:18