खोज

Vatican News
करुणामय येसु की तस्वीर करुणामय येसु की तस्वीर  (ANSA)

दिव्य करुणा रविवार श्रीलंका के पीड़ितों को समर्पित, सीसीबीआई

भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीसीबीआई) के अध्यक्ष ने भारत के काथलिकों को 28 अप्रैल के ‘दिव्य करुणा रविवार’ को ईस्टर रविवार की बमबारी के बाद श्रीलंका के लिए प्रार्थना और एकजुटता के दिन के रूप में समर्पित करने के लिए आमंत्रित किया है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

गोवा, शनिवार 27 अप्रैल 2019 (वाटिकन न्यूज) : भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीसीबीआई)  के अध्यक्ष गोवा और दमन के महाधर्माध्यक्ष फिलिप नेरी फेर्राव ने बुधवार को एक बयान जारी किया जिसमें उन्होंने सीसीबीआई के सदस्यों, सभी धर्मसंघों के प्रमुख अधिकारियों और सभी लैटिन राइट काथलिकों को श्रीलंका के बम पीडितों, उनके परिवारों और घायलों के लिए प्रार्थना और एकजुटता के दिन के रूप में समर्पित करने के लिए आमंत्रित किया।

महाधर्माध्यक्ष फेर्राव ने अपील की है कि दिव्य करुणा रविवार को पवित्र युखरीस्तीय समारोह में सभी पीड़ितों के लिए विशेष प्रार्थना की जाए, साथ ही इस हादसे से प्रभावित सभी श्रीलंकावासियों के इस दुःख से उबरने और धीरज पाने हेतु एकजुटता दिखाते हुए पवित्र साक्रामेंट के सामने प्रार्थना में समय बितायें। पुनर्जीवित प्रभु उन्हें सदमा सहने की शक्ति और मन की शांति प्रदान करें।

उन्होंने कहा, “जहां भी संभव हो, "हमारे पड़ोसी देश में होने वाली भीषण त्रासदी के लिए हमारे लोगों का ध्यान आकर्षित करने और दुनिया भर में शांति और सद्भाव के लिए प्रार्थना करने हेतु  मोमबत्ती-जुलूस का आयोजन किया जाए।"

विदित हो कि श्रीलंका में ईस्टर रविवार को तीन गिरजाघरों और पर्यटकों से भरे तीन लक्जरी होटलों में बम विस्फोटों में 250 से अधिक लोग मारे गए, उनका पहला सामूहिक अंतिम संस्कार 23 अप्रैल को किया गया। देश के काथलिक धर्माध्यक्ष लोगों से शांत रहने और विवेक और संयम से काम लेने का आग्रह किया है।

27 April 2019, 16:36