खोज

यूक्रेन की राजधानी कीएव में रूसी हवाई हमले के बाद ध्वस्त स्थिति यूक्रेन की राजधानी कीएव में रूसी हवाई हमले के बाद ध्वस्त स्थिति  (ANSA)

यूक्रेन में रूसी मिसाईल हमलों से अनेक लोगों की मौतें

अधिकारियों का कहना है कि रूसी मिसाइलों ने यूक्रेन के कई शहरों पर आक्रमण किया है जिसमें राजधानी कीएव भी शामिल है जहाँ करीब 10 लोगों की मौत हुई है और दर्जनों घायल हैं। रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने हमलों की पुष्टि की है और कहा है कि हमले रूस को क्रिमेया से जोड़नेवाले पुल एवं उसपर कब्जा करने का जवाब है तथा उन्होंने अधिक हमले की चेतावनी दी है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

अधिकारियों ने बतलाया कि यूक्रेन की राजधानी कीएव में जोरदार धमाकों की गूंज सुनाई पड़ रही है। मध्य कीएव में, वाहनों में आग लगी है। शहर के मुख्य रेलवे स्टेशन के पास सैमसंग का एक ऊंचा कार्यालय अन्य साइटों में से एक है जो गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त है।

महीनों के बाद यह पहली बार है जब कीएव पर हमले हुए हैं और युद्ध में पहले रूसी हमलों की तुलना में विस्फोट अधिक दिखाई दिए है। केंद्र में ही अधिक लोगों की मौत हुई है और लोग घायल हैं।

कीएव के अलावा यूक्रेन के चार अन्य शहरों ; लविव, तेरनोपिल, जपोरिज्जा और निप्रो को 75 दूरमार मिसाइलों और गोलाबारी द्वारा निशाना बनाया गया है।

निवासी छिपने के लिए दौड़ रहे थे। एक लड़की ने कहा "मैं हैरान हूँ क्योंकि मैंने अभी अभी एक रॉकेट को उड़ते देखा है" उसके बाद वह रूक गई। एक निशाने पर मिसाईल हमले के कारण उसके शब्द बाधित हुए। वह सदमे में चिल्लाते हुए विस्फोट से बाल-बाल बच गई।  

मोस्को में रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने हमलों का यह कहते हुए बचाव किया है कि वे केर्च पुल पर शनिवार को किये गये हमले का जवाब दे रहे हैं।

क्षतिग्रस्त पुल रूस को क्रीमिया प्रायद्वीप से जोड़ता है, जिसे मास्को ने 2014 में यूक्रेन से अलग कर लिया था। देश के टेलीविजन चैनल पर राष्ट्रपति पुतिन ने कहा कि "ऐसे अपराधों को बिना किसी प्रतिक्रिया के छोड़ना असंभव है।"  

उन्होंने बताया कि रूस के रक्षा मंत्रालय और सामान्य कर्मचारियों के प्रस्ताव पर मास्को ने समुद्र और जमीन से लंबी दूरी के मिसाइल हमले किए। उनका उद्देश्य था "यूक्रेन की ऊर्जा, सैनिक और संचार संरचनाओं को क्षति पहुँचाना।"

पुतिन ने चेतावनी दी है कि "यदि हमारे क्षेत्र में आतंकवाद का कार्य जारी रहा, तो रूसी जवाब अधिक कठोर होगा और उसके पैमाने में रूसी संघ के लिए बनाए गए खतरों के स्तर के अनुरूप होगा। इसपर किसी को संदेह नहीं होना चाहिए।"

24 फरवरी को यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के बाद से, सोमवार की सुबह पूरे यूक्रेन में हुए हमलों ने, एक युद्ध को आगे बढ़ाने की धमकी दी है, जिसमें पहले ही हजारों लोग मारे जा चुके हैं और घायल हैं।

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि भीड़-भाड़ वाले समय के हमलों को जानबूझकर लोगों को मारने और बिजली ठप करने के लिए समयबद्ध किया गया है।

कीएव का कहना है कि आठ क्षेत्रों में 11 प्राथमिक बुनियादी ढांचे के लक्ष्यों को मारा गया, जिसने देश के कई इलाकों को सर्दी से पहले ही, बिना बिजली, पानी या हीटर के छोड़ दिया है।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

11 October 2022, 16:44