खोज

इथियोपिया में संघर्ष इथियोपिया में संघर्ष  (AFP or licensors)

इथियोपिया, नई शत्रुता में दर्जनों पीड़ित,आइए, हम प्रार्थना करें: धर्माध्यक्ष

पिछले 29 और 31 अगस्त के बीच ओरोमिया के इथियोपियाई क्षेत्र में हुई हिंसा में कम से कम 60 लोग मारे गये। इस हिंसा ने सरकार समर्थक बलों और टीग्रे विद्रोहियों के बीच संघर्ष विराम को तोड़ दिया। झड़पों को रोकने की कोशिश में अमेरिकी दूत देश में पहुंचे। हाल के दिनों में, स्थानीय काथलिक धर्माध्यक्षों ने अपील की, "यह बिल्कुल अस्वीकार्य है कि हम फिर से युद्ध में प्रवेश करें, जो केवल विनाश और अवसाद लाता है।"

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

ओरोमिया, बुधवार, 07 सितम्बर 2022, (वाटिकन न्यूज)  : अगस्त के अंत में दो दिनों के तीव्र हमले में 60 से अधिक लोग मारे गये। कल इथियोपिया के मानवाधिकार आयोग ने इथियोपिया के सबसे बड़े और सबसे अधिक आबादी वाले ओरोमिया क्षेत्र में हुए नरसंहार का जायजा लिया। मारे गए लोगों के अलावा, 70 घायल हुए, घरों को तोड़फोड़ किया गया और पशुधन की चोरी हुई। स्वतंत्र सार्वजनिक संस्थान के अनुसार, इन हमलों के परिणामस्वरूप 20,000 से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं, जिन्होंने अमुरु जिले के कई इलाकों को निशाना बनाया है। क्षेत्र में एक ऑपरेशन के दौरान ओरोमो लिबरेशन आर्मी द्वारा उस स्थानीय समुदाय के तीन सदस्यों की हत्या के बाद, उसी जिले या पड़ोसी क्षेत्र अमहारा के इलाकों के सशस्त्र पुरुषों द्वारा हमले किए गए थे।

देश में अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र के दूत

संयुक्त इथियोपियाई और इरिट्रिया समर्थक सरकार बलों और उत्तर में टाइग्रे विद्रोहियों के बीच जारी संघर्ष को रोकने के प्रयास में, हॉर्न ऑफ अफ्रीका के लिए अमेरिकी दूत माइक हैमर इथियोपिया पहुंचे। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत हन्ना सेरवा तेतेह से मुलाकात की, लेकिन, संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता के अनुसार, एक संयुक्त मिशन के लिए योजनाओं को परिभाषित किए बिना, टाइग्रे पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट के प्रवक्ता गेटाचेव रेडा ने टाइग्रे क्षेत्र में "युद्ध का शांतिपूर्वक हल करने का गंभीर इरादा रखने वाले" से मुलाकात के लिए फ्रंट की तत्परता का आश्वासन दिया।

धर्माध्यक्षों की अपील: हथियार छोड़ो

पिछले महीने की लड़ाई ने लगभग दो साल के गृहयुद्ध के बाद पांच महीने के संघर्ष विराम को प्रभावी ढंग से तोड़ दिया। संघर्ष में दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर टाइग्रे में नवीनतम शत्रुता शुरू करने का आरोप लगाया। 2 सितंबर को स्थानीय काथलिक धर्माध्यक्षों ने टाइग्रे, अम्हारा, अफ़ार और अन्य क्षेत्रों से जुड़े युद्ध को समाप्त करने के लिए एक अपील शुरू की थी। उन्होंने एक बयान में कहा, "आइए हम हथियार छोड़ दें, बातचीत को प्राथमिकता दें और शांति के उन विकल्पों को शुरु करें जो नागरिकों की पीड़ा को खत्म कर सकें।" धर्माध्यक्ष लिखते हैं, "यह बिल्कुल अस्वीकार्य है कि हम फिर से युद्ध में प्रवेश करें, जो अपने साथ धन और आर्थिक अवसाद का विनाश लाता है।"

देश में शांति के लिए पांच दिन की प्रार्थना

धर्माध्यक्ष "भूख, बीमारी और मनोवैज्ञानिक क्षति से पीड़ित निर्दोषों, अपने घरों से विस्थापितों, जीवन की लागत के दबाव में संघर्ष कर रहे पूरे देश" की बात करते हैं। कई बार इथियोपियन काथलिक कलीसिया ने पार्टियों को शांति के लिए अपील शुरू करने के लिए आमंत्रित किया है, जहां दुर्भाग्य से युद्ध हिंसक रूप से फिर से शुरू हो गया है। "अब तक कई लोगों की जान चली गई हैं। संघर्ष द्वारा छोड़े गए निशानों के कारण बच्चे, महिलाएँ और बुजुर्ग संकट का सामना कर रहे हैं"। धर्माध्यक्षों ने कहा, हम सभी शांति वार्ता की आशा करते हैं, काथलिक कलीसिया के रूप में अन्य धार्मिक संस्थानों के साथ भी सहयोग करने के लिए तैयार हैं। धर्माध्यक्षों ने काथलिकों और इथियोपिया के सभी नागरिकों को देश में शांति और स्थिरता के लिए प्रार्थना में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जो 11 सितंबर से शुरू होती है।

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

07 September 2022, 15:29