खोज

मारियुपोल में एज़ोवस्टल आयरन एंड स्टील वर्क्स कंपनी के एक संयंत्र के ऊपर से धुआँ उठता हुआ मारियुपोल में एज़ोवस्टल आयरन एंड स्टील वर्क्स कंपनी के एक संयंत्र के ऊपर से धुआँ उठता हुआ  (ALEXANDER ERMOCHENKO)

रूस द्वारा मारियुपोल में लड़ाकों के लिए पास्का का अंतिम शर्त जारी

युद्धग्रस्त यूक्रेन में शांति के लिए संत पापा फ्राँसिस की प्रार्थना तब हुई जब यूक्रेन के लोगों ने पास्का रविवार को और विनाश की आशंका जताई। रूस ने पास्का की अंतिम चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि वह घिरे शहर मारियुपोल में यूक्रेनी सैनिकों के जीवन को तभी छोड़ेगा जब वे रविवार को हथियार डालेंगे। हालांकि, यूक्रेन का कहना है कि उसके सैनिक आत्मसमर्पण नहीं करेंगे।

माग्रेट सुनीता मिंज- वाटिकन सिटी

मारियुपोल, सोमवार 18 अप्रैल 2022 (वाटिकन न्यूज)  : यूक्रेन के पस्त बंदरगाह शहर मारियुपोल के निवासी नष्ट हो चुकी इमारतों और ताजी कब्रों के बीच रहते हैं।

मारियुपोल निवासी गैलिना वासिलीवा ने कहा कि मारियुपोल के लोगों ने यहां दहशत में जीवन बिताया है यह शहर प्रतिरोध का प्रतीक बन गया है, सात सप्ताह की घेराबंदी के बाद रविवार को रूसी सेना गिरने के कगार पर दिखाई दी। यहाँ के उन इमारतों को गिराने की ज़रूरत है क्योंकि वे पूरी तरह से नष्ट हो चुकी हैं और वहाँ जले हुए लोग पड़े हैं।

तातियाना भी इससे सहमत है और कहती है, "हम डरावनी अवस्था में रहते हैं और हम नहीं जानते कि आगे क्या होगा। हम ऐसे जी रहे हैं जैसे हम एक ज्वालामुखी के ऊपर हैं। हमारे घर के लोगों की मृत्यु हो गई थी और हमने उन्हें सीधे अंदर आंगन में दफन कर दिया।"

रूसी सेना ने दावा किया कि लगभग 2,500 यूक्रेनी लड़ाके एक हॉकिंग स्टील प्लांट में भूमिगत मार्गों के एक युद्ध क्षेत्र में मारियुपोल को बचाने के लिए किये जा रहे प्रतिरोध  में पकड़े गये।

रूस ने यह कहते हुए, उनके आत्मसमर्पण हेतु पास्का की समय सीमा दी, कि जो लोग अपने हथियार डालेंगे, उन्हें "अपनी जान बचाने की गारंटी" दी जाएगी। हालांकि, रूसी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता मेजर जनरल इगोर कोनाशेनकोव ने चेतावनी दी कि "जो लोग प्रतिरोध जारी रखेंगे, उन्हें नष्ट कर दिया जाएगा।"

उन्होंने कहा कि इंटरसेप्टेड संचार से संकेत मिलता है कि अज़ोवस्टल स्टील मिल में लगभग 400 विदेशी भाड़े के सैनिक और यूक्रेनी सैनिक थे। लेकिन उस दावे को स्वतंत्र रूप से सत्यापित नहीं किया जा सका।

यूक्रेन ने आत्मसमर्पण करने से किया इनकार

हालांकि, यूक्रेनी विधायक ओलेक्सी गोंचारेंको ने कहा कि मारियुपोल में यूक्रेनी सैनिक रूस के सामने आत्मसमर्पण नहीं करेंगे। मारियुपोल के मेयर के एक सलाहकार ने कहा कि रक्षकों ने बचाव जारी रखा है।

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने पहले चेतावनी दी थी कि मारियुपोल में यूक्रेनी लड़ाकों को खत्म करने से शांति वार्ता समाप्त हो जाएगी। शहर के अधिकारियों ने कहा कि रूस सोमवार से मारियुपोल तक पहुंच प्रतिबंधित करने की योजना बना रहा है।

रूसी सेना द्वारा यूक्रेनी सैनिकों को कमजोर करने और घेरने के बाद मारियुपोल पर कब्जा करने के बाद रूस अपने युद्ध के उद्देश्य पा लेगा। यह मास्को को यूक्रेन में एक महत्वपूर्ण सफलता भी देगा, जो राजधानी में तूफान और रूसी नौसेना के ब्लैक सी फ्लैगशिप के नुकसान के असफल प्रयास के बाद होगा।

अधिकारियों का कहना है कि मारियुपोल में लड़ाई, जहां 20,000 लोग मारे गए और अन्य जगहों पर हुई झड़पों ने पास्का समारोहों को प्रभावित किया। फिर भी ख्रीस्तियों को नष्ट या क्षतिग्रस्त गिरजाघरों में भी प्रार्थना करते देखा गया।

ख्रीस्तियों के उत्पीड़न को संबोधित करते हुए, ब्रिटिश प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन ने यूक्रेनी विश्वासियों के लिए एक विशेष संदेश दिया था। उन्होंने कहा "निश्चित रूप से, यूक्रेन के ख्रीस्तीय, चाहे वे आज पास्का मना रहे हों या इस महीने के अंत में ऑरथोडोक्स ख्रीस्तीय, जिनके लिए मसीह की आशा का संदेश - मृत्यु पर जीवन की विजय और बुराई पर अच्छाई की विजय – अन्य वर्षों की अपेक्षा इस वर्ष शायद सबसे अधिक प्रतिध्वनित होगा। "

"पास्का हमें बताता है कि अंधकार से परे प्रकाश है और पीड़ा से परे मुक्ति है।" प्रधान मंत्री ने भजन संहिता 31 को उद्धृत करते हुए यूक्रेन वासियों से कहा: "हे प्रभु पर भरोसा रखने वालों, मजबूत बनो और अपने दिल में साहस रखो।"

श्री जॉनसन ने हाल ही में यूक्रेनी राजधानी कीव का दौरा किया था और उनके वरिष्ठ मंत्रियों को रूस में प्रवेश करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। यूक्रेनी अधिकारियों ने हाल ही में कहा था कि रूसी हमलों ने कम से कम 59 धार्मिक स्थलों जैसे गरजाघरों, मस्जिदों और सभास्थलों पर हमला किया है।

मॉस्को ने नागरिक शहरों पर गोलाबारी से इनकार किया है, लेकिन धार्मिक स्थलों के व्यापक नुकसान इसके सबूत हैं।

 

Thank you for reading our article. You can keep up-to-date by subscribing to our daily newsletter. Just click here

18 April 2022, 14:47