खोज

Vatican News
तेज बाढ़ में कोट्टायम का घर पानी में गिरते हुए तेज बाढ़ में कोट्टायम का घर पानी में गिरते हुए 

भारत : बाढ़ और भूस्खलन में कम से कम 25 मरे

दक्षिण-पश्चिम भारत में सप्ताहांत में भारी बारिश के बाद बाढ़ और भूस्खलन में कम से कम 25 लोग मारे गए हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

केरल, सोमवार 18 अक्टूबर 2021 (वाटिकन न्यूज) : दक्षिण-पश्चिम भारत में शुक्रवार से जारी बचाव प्रयासों के बीच मूसलाधार बारिश के कारण हुए भूस्खलन और बाढ़ में कम से कम 25 लोगों की मौत हो गई है।

केरल राज्य में, पिछले शुक्रवार की भारी बारिश से जलमार्ग और सड़कों पर पानी भर गया था। बाढ़ ने कई घरों को नष्ट कर दिया और परिवहन के साधनों को जलमग्न कर दिया जिसके द्वारा लोग खुद को बचाने की कोशिश कर रहे थे। हजारों लोगों को निकाला गया और 100 से अधिक राहत शिविर स्थापित किए गए।

पीड़ित और लापता व्यक्ति

फिलहाल इडक्की जिले से 11, कोट्टायम जिले से 14 शव बरामद किए गए हैं। हजारों लोगों को निकाला गया है, थल सेना, नौसेना और वायु सेना सभी बचाव कार्य में लगी हुई है। लापता लोगों की संख्या का अनुमान लगाना अभी संभव नहीं है, हालांकि, निवासियों की हताशा स्पष्ट है और इसे स्थानीय टीवी और रेडियो चैनलों पर साक्षात्कार और रिपोर्ट के माध्यम से देखा जा सकता है।

निवासी भूस्खलन, ढहने और पहाड़ियों के पूरी तरह से कीचड़ में समा जाने की बात करते हैं। सोशल नेटवर्क पर साझा किए गए एक वीडियो में कारों और बसों को कीचड़ और पानी में डूबा हुआ देखा जा सकता है।

प्रधानमंत्री

भारतीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर के माध्यम से अपनी संवेदना व्यक्त की और आश्वासन दिया कि अधिकारी प्रभावित आबादी की मदद के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। इस बीच, पूर्वानुमान के अनुसार, कल तक मूसलाधार बारिश कम होने की उम्मीद है, लेकिन अगले दो से तीन दिनों तक उत्तर भारत में भारी बारिश की संभावना है।

पिछली बाढ़ आपदाएं

केरल में भारी वर्षा के कारण बाढ़ और भूस्खलन होना कोई असामान्य बात नहीं है। 2018 में, केरल में एक सदी में सबसे भीषण बाढ़ से लगभग 400 लोग मारे गए और दस लाख से अधिक लोग विस्थापित हुए थे।

18 October 2021, 16:21