खोज

Vatican News
हैती मेंअसुरक्षा के विरोध में हड़ताल हैती मेंअसुरक्षा के विरोध में हड़ताल 

हैतीः असुरक्षा के विरोध में हड़ताल, अपहृतों की तलाश जारी

संयुक्त राज्य की सरकार ने एक गिरोह द्वारा बंदूक की नोक पर अगवा किए गए सत्रह मिशनरियों के अपहरण को सुलझाने के लिए स्थानीय पुलिस के साथ काम करने के लिए एफबीआई-स्टेट डिपार्टमेंट टास्क फोर्स को हैती भेजा है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

हैती, बुधवार 20 अक्टूबर 2021 (वाटिकन न्यूज) :  हैती वासियों ने सोमवार को एक आम हड़ताल किया। सड़कों पर बैरिकेडिंग और कार के टायरों के साथ गहरे नीले आकाश में तीखा धुआँ उठ रहा था। ये हत्या, अपहरण, डकैती और जबरन वसूली के शिकार होने से सावधान रहने वाले लोगों के बीच हताशा का संकेत है। सड़क के गिरोहों द्वारा प्रतिदिन आतंकित किया जा रहा है। सरकार उन गिरोहों को नियंत्रित करने और देश में शांति व्यवस्था लाने में असफल रही है।

कार्यवाहक प्रधान मंत्री एरियल हेनरी और हैती के राष्ट्रपति को अपहरण किए गए उन्नीस लोगों और विकासशील संकट के बारे में पूरी तरह से जानकारी दी जा रही है, जिसमें सोलह अमेरिकी मिशनरी, एक कनाडाई नागरिक और दो हाईटियन नागरिक शामिल हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने विदेश विभाग और एफबीआई विशेषज्ञों का एक समूह भेजा है। यह समझा जाता है कि एफबीआई टीम की अपहरण के लिए जिम्मेदार 400 मावोजा गिरोह के साथ बातचीत कर रही है। हैती में ईसाई सहायता मंत्रालयों के समूह के एक पूर्व प्रमुख का कहना है कि गिरोह ने अब संपर्क किया है। दुख की बात है कि जब्त किए गए मिशनरी और उनके परिवार जिनमें पांच बच्चे शामिल हैं, एक अनाथालय की मदद करने की कोशिश कर रहे थे। उनका मिशन हैती के युवाओं को कपड़े, भोजन और शिक्षा प्रदान करना है, जिन्हें इन मौलिक चीजों की सख्त जरूरत है।

हैती में सभी विदेशी नागरिकों की सुरक्षा पर सवाल उठ रहा है। जैसे-जैसे परिस्थिति विकट होती जा रही है, उनकी सुरक्षा की गारंटी नहीं दी जा सकती। उसी गिरोह ने अप्रैल में एक मिलियन डॉलर की फिरौती की मांग करते हुए पुरोहितों और धर्महनों का अपहरण कर लिया था। राजनयिकों से बातचीत के बाद उन्हें छोड़ दिया गया। अब फिर से वही हुआ है।

20 October 2021, 15:45