खोज

Vatican News
टोक्यो में मंगलवार को पैरालिंपिक खेल का उद्घाटन किया गया। टोक्यो में मंगलवार को पैरालिंपिक खेल का उद्घाटन किया गया। 

पैरालिंपिक प्रेरणा और आशा का प्रतीक

टोक्यो में मंगलवार को पैरालिंपिक खेल का उद्घाटन किया गया। खेल की जिम्मेदारी के साथ संस्कृति के लिए गठित परमधर्मपीठीय समिति के उप-सचिव मोनसिन्योर मेलक्योर संकेज दी तोका ने कहा कि खेल आशा का एक महान चिन्ह है क्योंकि यह कई दिव्यांग लोगों को प्रेरित कर सकता है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

टोक्यो, बुधवार, 25 अगस्त 2021 (वीएनएस)- टोक्यो में मंगलवार को पैरालिंपिक खेल का उद्घाटन किया गया। खेल की जिम्मेदारी के साथ संस्कृति के लिए गठित परमधर्मपीठीय समिति के उप-सचिव मोनसिन्योर मेलक्योर संकेज दी तोका ने कहा कि खेल आशा का एक महान चिन्ह है क्योंकि यह कई दिव्यांग लोगों को प्रेरित कर सकता है। कोविड-19 महामारी के कारण ओलिंपिक खेल की तरह ही, 2020 पैरालिंपिक खेल का उद्घाटन टोक्यो में मंगलवार को हुआ।

महामारी के बीच 2020 पैरालिम्पिक

आयोजकों का कहना है कि खेल बहुत कठिन परिस्थिति में खेला जाएगा क्योंकि 8 अगस्त को ओलंपिक खेल शुरू होने के बाद मामलों में वृद्धि हुई है।

उन्होंने कहा है कि वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कोविड-19 के उन्हीं निर्देशों का पालन किया जाए जिनका पालन ओलंपिक के दौरान किया गया था।  

पैरालिंपिक की शुरूआत मंगलवार 24 अगस्त को हुआ और इसका समापन 5 सितम्बर को होगा। इस बार भी दर्शकों के बिना ही खेल खेला जाएगा और खिलाड़ियों से कहा गया है कि वे अधिक घूमने का प्रयास न करें।

अंतरराष्ट्रीय पैरालिंपिक समिति के प्रवक्ता क्रेग स्पेंस के अनुसार, लगभग 88% एथलीटों और खेलों में भाग लेनेवाले अधिकारियों को टीका लगाया गया है। इन खेलों में एथलीट, 22 से अधिक खेलों में 540 स्पर्धाओं में भाग लेंगे।  2020 के ग्रीष्मकालीन पैरालिंपिक में बैडमिंटन और ताइक्वांडो की शुरुआत भी होगी, जो नौकायन और 7-ए-साइड फ़ुटबॉल की जगह लेगी।

पोप फ्राँसिस एवं खेल

संत पापा फ्राँसिस की ओर से दिए गये समर्थन की याद करते हुए मोनसिन्योर संकेज दी तोका ने कहा कि संत पापा फ्राँसिस पैरालिंपिक एथलीट के महान समर्थक रहे हैं तथा 2016 में रियो खेल में भाग लेनेवालों को सम्बोधित किया था। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय पैरालिंपिक समिति के बोर्ड का भी स्वागत किया था। किन्तु संत पापा फ्रांसिस की शिक्षाओं में से एक महत्वपूर्ण शिक्षा है "समावेश"। खेल सभी के लिए है और इस में शारीरिक रूप से दिव्यांग लोग भी भाग ले सकते हैं।

आशा का चिन्ह

ओलंपिक और पैरालिंपिक दोनों खेलों की तैयारी करनेवाले खिलाड़ियों पर कोविड-19 महामारी द्वारा बरपाई गई बाधा को ध्यान देत हुए, मोनसिन्योर सांकेज दी तोका ने कहा कि पैरालंपिक एथलीटों के लिए, महामारी के कारण होनेवाली उथल-पुथल उनके लिए "दोहरी मुश्किल" है, लेकिन उन्होंने कहा कि वे और उनका परिषद पैरालंपिक खेलों को "बड़ी आशा" के साथ देख रहा है क्योंकि ये "कई विकलांग लोगों को प्रेरित करने के लिए आवश्यक" हैं।

25 August 2021, 15:44