खोज

Vatican News
लीबिया के तट पर जहाज में प्रवासी लीबिया के तट पर जहाज में प्रवासी  (AFP or licensors)

लीबिया के तट पर जहाज के मलबे में दर्जनों प्रवासी डूबे

भूमध्यसागर में ताजा त्रासदी में खुम्स के पास लीबिया के तट पर सोमवार को एक नाव के पलट जाने से कम से कम 57 लोग डूब गए। भूमध्यसागर में इस साल 1,100 से अधिक पुरुषों, महिलाओं और बच्चों की जान चली गई।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

लीबिया, बुधवार 28 जुलाई 2021 (वाटिकन न्यूज) : अधिकारियों ने कहा कि जहाज के मलबे से शव बरामद नहीं किए गए हैं, लेकिन नवीनतम भूमध्यसागरीय प्रवास त्रासदी में बचे लोगों में नाइजीरिया, घाना और गाम्बिया के प्रवासी शामिल हैं।

प्रवासन के लिए अंतर्राष्ट्रीय संगठन ने कहा कि "मछुआरों और तट रक्षकों द्वारा तट पर लाए गए बचे लोगों के अनुसार, डूबने वालों में कम से कम 20 महिलाएं और दो बच्चे थे।" प्रवासी, जिनमें से अधिकांश पश्चिम अफ्रीका से थे, यूरोप पहुंचने की उम्मीद में एक छोटी नाव में लीबिया के खम्स से रवाना हुए थे।

 अतरराष्ट्रीय प्रवासी संगठन (आईओएम) के एक प्रवक्ता ने कहा कि "यूरोप में आगमन में वृद्धि के बावजूद, संख्या का कोई संकट नहीं है परंतु प्रवासियों के आगमन के लिए बेहतर एकजुटता और बेहतर शासन और प्रवासन का प्रबंधन होने की आवश्यकता है।"

प्रवासियों की सुरक्षा हेतु संत पापा का आह्वान

संत पापा फ्राँसिस, कलीसिया और अन्य धार्मिक नेताओं और विश्वास-आधारित संगठनों ने बेहतर जीवन की तलाश में खतरनाक यात्रा करने वाले प्रवासियों के जीवन और सम्मान की रक्षा के लिए यूरोपीय संघ के नए कानून की अथक वकालत की है।

लेकिन कई यूरोपीय राष्ट्रों ने अपना हाथ पीछे खींच लिया है और केवल गैर-बाध्यकारी संधियों को मंजूरी दी है। इस बीच, रोम और त्रिपोली के बीच हाल ही में किये गये नये समझौते के अनुसार इटली लीबिया के तटरक्षक बल को धन और प्रशिक्षण देगा। लीबिया के जहाजों द्वारा बचाए गए हजारों प्रवासियों को लीबिया के हिरासत शिविरों में वापस कर दिया गया है, जहां वे भयावह परिस्थितियों में दुर्व्यवहार का शिकार बन जाते हैं। अन्य लापता हो जाते हैं और उनकी कोई गिनती नहीं होती है, आशंका की जाती है कि उन्हें मानव तस्करी के नेटवर्क में शामिल किया जाता है।

संख्या में वृद्धि

इस साल की पहली छमाही में, लीबिया के तट रक्षक ने भूमध्यसागर से 13,000 से अधिक लोगों को बचा लिया है, जो 2020 के कुल आंकड़े से अधिक है, जबकि इस महीने की शुरुआत में, आईओएम ने कहा कि महासागर को पार करने की कोशिश में मरने वालों की संख्या पिछले साल, इसी अवधि की तुलना में 2021 की पहली छमाही में लगभग दोगुना हो गया।

पिछले वर्षों में सैकड़ों हजारों प्रवासियों ने खतरनाक मार्ग से भूमध्यसागर पार करने का प्रयास किया है, उनमें से अधिकांश अफ्रीका और मध्य पूर्व के देशों में चल रहे संघर्ष और गरीबी से भाग रहे हैं।

28 July 2021, 16:10