खोज

Vatican News
अफगानिस्तान के यारमुहम्मद गाँव के बच्चे और महिलाएँ पलायन के लिए तैयार अफगानिस्तान के यारमुहम्मद गाँव के बच्चे और महिलाएँ पलायन के लिए तैयार  (AFP or licensors)

अफगानिस्तानःहिंसा बढ़ी, 22,000 से ज्यादा परिवार पलायन को मजबूर

अफगानिस्तान के कंधार शहर और अन्य प्रांतों में लड़ाई जारी है। हजारों लोगों ने सुरक्षित स्थानों पर शरण ली है। अब तक लगभग 154,000 लोग विस्थापित हुए हैं। अमेरिका ने घोषणा की है कि वह तालिबान के खिलाफ हवाई हमले जारी रखेगा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

कंधार, सोमवार 26 जुलाई 2021 (वाटिकन न्यूज) : अफगानिस्तान में 22,000 से अधिक परिवारों को कंधार में तालिबान के हमले के बाद लड़ाई से बचने के लिए अपना घर छोड़ना पड़ा है।  650,000 आबादी का कंधार शहर, काबुल के बाद देश का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। मई के बाद से दिन-ब-दिन हिंसा बढ़ती जा रही है। विदेशी सैनिकों की अंतिम वापसी की शुरुआत के कुछ दिनों बाद तालिबान द्वारा शुरू किए गए विशाल हमले पिछले कुछ दिनों मेंबहुत बढ़ गई है। जमीनी स्तर पर लड़ाई जारी रही और विद्रोहियों ने कंधार के अलावा - कई प्रांतीय राजधानियों, दर्जनों जिलों और सीमा क्रॉसिंग पर फिर से कब्जा कर लिया।

प्रांतीय शरणार्थी विभाग के प्रमुख दोस्त मोहम्मद दरयाब की रिपोर्ट अनुसार, "लड़ाई ने 22,000 परिवारों को विस्थापित कर दिया है, वे सभी अस्थिर शहर के पड़ोस के सुरक्षित क्षेत्रों में चले गए।" स्थानीय अधिकारियों ने विस्थापित लोगों को समायोजित करने के लिए चार शिविर स्थापित किए हैं, जिनकी अनुमानित संख्या लगभग 154,000 है। 1996 और 2001 के बीच तालिबान शासन के पूर्व गढ़ कंधार प्रांत के डिप्टी गवर्नर ललाई दास्तागीरी ने बताया कि कुछ सुरक्षा बलों, विशेष रूप से पुलिस की लापरवाही ने तालिबान को इतना करीब आने दिया है। वे सुरक्षा बल को फिर से संगठित करने का प्रयास कर रहे हैं।

इस बीच, अफगान अधिकारियों ने घोषणा की है कि उन्होंने काबुल में राष्ट्रपति महल पर 20 जुलाई के रॉकेट हमले के लिए चार संदिग्ध विद्रोहियों को गिरफ्तार किया है। अफगानिस्तान में अमेरिकी ऑपरेशन की कमान में अमेरिकी सेना के सेंट्रल कमान के प्रमुख जनरल केनेथ मैकेंजी ने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका काबुल में तालिबान आतंकवादियों से लड़ने वाले बलों का समर्थन करने के लिए हवाई हमले जारी रखेगा। उन्होंने कहा "संयुक्त राज्य अमेरिका ने हाल के दिनों में अफगान बलों के समर्थन में अपने हवाई हमले तेज कर दिए हैं और अगर तालिबान अपने हमले जारी रखता है, तो हम आने वाले दिनों में इस उच्च स्तर के समर्थन को जारी रखने के लिए तैयार हैं।"

26 July 2021, 14:48