खोज

Vatican News
इथियोपिया में मतदान के लिए लाइन में खड़े लोग इथियोपिया में मतदान के लिए लाइन में खड़े लोग  (ANSA)

इथियोपिया राजनेता एकता व आपसी सम्मान का समर्थन करें, धर्माध्यक्ष

इथियोपिया में आज आम चुनाव है। देश के धर्माध्यक्षों ने राजनेताओं से राजनेता एकता, एकजुटता व आपसी सम्मान का समर्थन करने की अपील की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

अदीस अबाबा, सोमवार, 21 जून 2021(रेई) : इथियोपिया "ईमानदार" राजनेता चाहता है जो "एकता, एकजुटता और आपसी सम्मान का समर्थन करते हैं,": नेशनल बिशप्स कॉन्फ्रेंस (सीबीसीइ) के महासचिव, फादर टेशोम फ़िक्रे वेल्डेटेंस द्वारा हस्ताक्षरित 21 जून के चुनाव को देखते हुए 18 जून को जारी एक नोट में इसकी पुष्टि की। आम चुनाव दांव पर है। मतदाता संघीय संसद के 547 सदस्यों का चुनाव करेंगे और जीतने वाली पार्टी का नेता प्रधान मंत्री बन जाएगा। धर्माध्यक्ष लिखते हैं, "एक ईमानदार नेता यह सुनिश्चित करने का प्रयास करता है कि समुदाय में समानता, न्याय और शांति बनी रहे। लेकिन ऐसा नेता पाने के लिए हमें अपने बच्चों में एक अच्छा बीज, एक धार्मिक नैतिकता बोनी होगी।" इसलिए, सभी उम्मीदवारों को ईमानदारी के सिद्धांतों को व्यवहार में लाने, "उन मुद्दों पर काम करना होगा, जो नागरिकों के बीच एकता लाते हैं और विभाजन के तत्वों को बढ़ावा देने से परहेज करते हैं।"

शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक मतदान

धर्माध्यक्षों  ने अपने बयान में इस मुद्दे को रेखांकित किया कि इथियोपियाई जनता "भेदभाव, जातीय विभाजन, विस्थापन, निर्वासन, भ्रष्टाचार को सहन करने के लिए तैयार नहीं है, जो संघर्षों के कारण निर्दोष नागरिकों की मृत्यु और संपत्ति के विनाश का कारण बनते हैं।" इसी कारण से देश की आशा है कि देश में स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक मतदान हो। एक लक्ष्य जिसके लिए सभी उम्मीदवारों और सभी दलों, सरकार और विपक्ष दोनों को "जिम्मेदारी से अभिनय" करने के लिए कहा जाता है।

विशेष रूप से, राष्ट्रीय चुनाव आयोग को संबोधित करते हुए, सीबीसीई ने "चुनावी प्रक्रिया से संबंधित सभी अपीलों के लिए पर्याप्त और समय पर प्रतिक्रिया प्रदान करते हुए निष्पक्षता, समावेश, लोकतंत्र और मतदान की शांति सुनिश्चित करने" का आग्रह किया। वोट दाताओं से, धर्माध्यक्षों ने उन उम्मीदवारों को चुनने के लिए कहा है जो "आम भलाई के प्रति सम्मान दिखाते हैं। राष्ट्र और देश की अखंडता के आधार पर, न कि किसी जातीय समूह या भाषा के आधार पर उम्मीदवारों का चुनाव करें।" साथ ही, सत्तारूढ़ दल से "यह सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक एहतियाती उपाय करने" का आग्रह किया है कि वोट सुरक्षित और शांतिपूर्ण तरीके से आयोजित किया जाए, ताकि "राष्ट्र की अखंडता की रक्षा और इसके विकास को बढ़ावा दिया जा सके।"

नागरिकों की सुरक्षा, चुनावों की निष्पक्षता

इथियोपियन काथलिक कलसिया राष्ट्रीय और संघीय दोनों पुलिस बलों से एक और अपील करती है कि वे "नागरिकों की सुरक्षा और चुनावों की निष्पक्षता की रक्षा के लिए काम करे। खुद को राजनीतिक दल के बजाय पूरी आबादी के पक्ष में प्रतिबद्ध करे।" धर्माध्यक्षों ने युवाओं सहित महिलाओं को "किसी भी तरह की राजनीतिक संबद्धता से पूरी तरह से स्वतंत्र होकर मतदान करने के अपने अधिकार का प्रयोग करें, क्योंकि सार्वजनिक पद धारण करने का एकमात्र तरीका मतदान के माध्यम से है, अन्यथा नहीं"। अंत में, कोविड -19 महामारी को देखते हुए, जो इथियोपिया में, अब तक, कुल मिलाकर 4,200 से अधिक मौतों के साथ 275 हजार मामलों का कारण बना है, धर्माध्यक्षों ने सभी से "सरकार द्वारा स्थापित छूत-विरोधी नियमों का पालन करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि आप न केवल अपनी, बल्कि दूसरों की जान की भी रक्षा करें।”

21 June 2021, 15:48