खोज

Vatican News
अमेरिकी विदेश मंत्री एंथोनी ब्लिंकन अमेरिकी विदेश मंत्री एंथोनी ब्लिंकन   (AFP or licensors)

अमेरिकी विदेश मंत्री द्वारा युद्धविराम के बाद मध्य पूर्व का दौरा

अमेरिकी विदेश मंत्री एंथोनी ब्लिंकन ने मंगलवार को मध्य पूर्व की यात्रा शुरू की, मिस्र की मध्यस्ता के बाद, इजरायल और हमास के बीच संघर्ष को रोक दिया गया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

येरुसालेम, बुधवार 19 मई 2021 (वाटिकन न्यूज) : इज़राइल और हमास के बीच शत्रुता शुरू हुए अभी दो सप्ताह से अधिक का समय हुआ है, जिसके कारण दोनों पक्षों को मौत और विनाश का सामना करना पड़ा।

मंगलवार को इज़राइल पहुँचे, अमेरिकी विदेश मंत्री, एंटनी ब्लिंकन ने मिस्र द्वारा मध्यस्थता वाले युद्धविराम को  और सुदृढ़ करने की आशा व्यक्त की।

युद्धविराम कायम रखना

हालिया हिंसा ने गाजा पट्टी को तबाह कर दिया है। यह आशा की जा रही है कि अमेरिकी विदेश मंत्री का मिशन फिलिस्तीनी एन्क्लेव को मानवीय सहायता में तेजी लाने में मदद करेगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने कहा कि ब्लिंकन "इजरायल की सुरक्षा के लिए हमारी दृढ़ प्रतिबद्धता के बारे में इजरायल के नेताओं के साथ" मिलेंगे, साथ ही फिलिस्तीनियों के साथ संबंध बहाल करने का भी प्रयास करेंगे।

अपनी यात्रा के दौरान, मिस्टर ब्लिंकन कब्जे वाले वेस्ट बैंक में रामल्लाह, काहिरा और अम्मान का दौरा करना है, जिसमें युद्धविराम को बनाए रखने पर प्राथमिकता दी गई है।

राज्य सचिव के एजेंडे में येरुसालेम में इजरायल के प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ बातचीत और फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास के साथ वेस्ट बैंक शहर रामल्लाह में एक बैठक शामिल है।

येरुसालेम में अल-अक्सा मस्जिद परिसर पर इजरायली पुलिस की छापेमारी और रमजान के मुस्लिम पवित्र महीने के दौरान फिलिस्तीनियों के साथ तनाव के कारण क्षेत्र में शत्रुता शुरू हो गई थी।

हमास ने 10 मई को इजरायल पर सीमा पार से रॉकेट हमले शुरू किए, जिसके जवाब में इजरायली हवाई हमले हुए।

संघर्ष की कीमत

गाजा में कम से कम 253 लोग मारे गए और 1900 से अधिक लोग घायल हुए, जबकि इस्राइली सेना ने इस्राइल में मरने वालों की संख्या 13 बताई, और सैकड़ों घायलों का इलाज किया गया।

जब तक युद्धविराम की घोषणा की गई तब तक गाजा पट्टी में आवासीय टावर ब्लॉक और निजी घर क्षतिग्रस्त या नष्ट हो गए थे।

शनिवार को, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने हिंसा पर एक बयान जारी कर "संघर्षविराम का पूर्ण पालन" करने का आह्वान किया।

26 May 2021, 16:02