खोज

Vatican News
टीकाकरण की तैयारी करता लॉस एन्जेलिस का मैडिकल स्टाफ, तस्वीरः 05.03.2021 टीकाकरण की तैयारी करता लॉस एन्जेलिस का मैडिकल स्टाफ, तस्वीरः 05.03.2021 

काथलिक वैज्ञानिकों और पत्रकारों ने रचा कोविद-19 सूचना समूह

काथलिक मीडिया विशेषज्ञों एवं विज्ञान विदों के एक अन्तरराष्ट्रीय समूह ने कोविद-19 वैक्सीन के बारे में भ्रामक सूचनाओं को परास्त करने के लिये एक नये संगठन की स्थापना की है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

रोम, शुक्रवार, 19 मार्च 2021 (रेई,वाटिकन रेडियो):  काथलिक मीडिया विशेषज्ञों एवं विज्ञान विदों के एक अन्तरराष्ट्रीय समूह ने कोविद-19 वैक्सीन के बारे में भ्रामक सूचनाओं को परास्त करने के लिये एक नये संगठन की स्थापना की है।  

इस पहल में आलेतेइया, आई मीडिया, आर सन्डे विज़िटर, वेरिफिकात काथलिक न्यूज़ साईट और साथ ही दो काथलिक अनुसन्धान केन्द्र एवं एक काथलिक वैज्ञानिक समिति के प्रयास शामिल हैं।

नकली समाचारों का मुकाबला

ये समूह एक साथ मिलकर एक डाटाबेस की रचना करेगा ताकि समस्त काथलिक मीडिया एजेन्सियाँ कोरोना वायरस वैक्सीन पर प्रसारित समाचारों की सच्चाई का पता लगा कर प्रामाणिक समाचारों को ही प्रसारित करें। ये समाचार सात विभिन्न भाषाओं में उपलब्ध रहेंगे। कैथोलिक मीडिया पेशेवरों और वैज्ञानिकों के एक अंतरराष्ट्रीय समूह ने COVID-19 वैक्सीन के बारे में गलत जानकारी देने में मदद करने के लिए एक नए संगठन की स्थापना की है।

समाचारों को बेहतर ढंग से समझने के लिए, संगठन, एक इंटरनेट ऑडियंस अध्ययन प्रकाशित करेगा और यह जानकारी देगा कि विश्वव्यापी स्तर पर मीडिया एजेंसियां टीकाकरण प्रक्रिया पर कैसे रिपोर्ट कर रही हैं।

पत्रकारों की भूमिका

16 मार्च की प्रेस विज्ञप्ति में, उक्त समूह के आलेतेइया समाचार संगठन ने वैज्ञानिकों, जैवविज्ञानी और धर्मशास्त्रियों द्वारा प्रदान किये जानेवाले स्पष्टीकरणों के महत्व पर ज़ोर दिया ताकि झूठी जानकारी और नकली समाचारों का मुकाबला करने में मदद मिल सके। समाचार संगठन ने कहा कि विशेषकर सोशल मीडिया पर प्रकाशित भ्रामक समाचारों को परास्त करने की नितान्त आवश्यकता है, जिनपर प्रायः नैतिकता सम्बन्धी सवाल उठाये जाते रहें हैं।

आलेतेइया समाचार संगठन के अनुसार, कोविद-19 वैक्सीन की तेज़ी से विकसित होती प्रक्रिया तथा विश्व भर में बढ़ते महामारी के संक्रमण ने टीकाकरण विषय को भ्रामक सूचनाओं के प्रति अतिसंवेदनशील बना दिया है। इस क्षेत्र में पत्रकार ज़िम्मेदाराना भूमिका निभा सकते हैं।  

इस नये संगठन में विश्व स्वास्थ्य संगठन के पूर्व स्वास्थ्य परामर्शदाता होज़े एज़्रा, जीवन सम्बन्धी परमधर्मपीठीय समिति के सदस्य रोडरिगो ग्वेर्रा तथा यूनिवर्सल डॉक्टर एन्ड एपिडेमिक्स के संस्थापक डॉ. होर्दी सेर्रानो पॉन्स भी शामिल हैं। 16 मार्च की प्रेस विज्ञप्ति में, एटलिया ने वैज्ञानिकों, जैवविज्ञानी और धर्मशास्त्रियों द्वारा प्रदान की गई स्पष्टीकरणों के महत्व पर जोर दिया ताकि झूठी टीका जानकारी और नकली समाचारों का मुकाबला करने में मदद मिल सके।

 

19 March 2021, 11:34