खोज

Vatican News
गोमा हवाईअड्डे में इटली के राजदूत और पुलिस अधिकारी के शव हवाईजहाज में डालते हुए गोमा हवाईअड्डे में इटली के राजदूत और पुलिस अधिकारी के शव हवाईजहाज में डालते हुए 

संयुक्त राष्ट्र के काफिले पर हमले में इतालवी राजदूत की मौत

लोकतांत्रिक गणराज्य कांगो में इटली के राजदूत लूका अत्तनासियो की क्रूर हत्याओं के मद्देनजर धार्मिक और नागरिक प्राधिकरणों से शोक संदेश आ रहे हैं। देश के पूर्व में एक क्षेत्र की यात्रा के दौरान सोमवार को एक पुलिस अधिकारी उनके ड्राइवर की भी मौत हुई।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

रोम, बुधवार 24 फरवरी 2021 (वाटिकन न्यूज) : इटली के विदेश मंत्रालय ने कहा कि लोकतांत्रिक गणराज्य कांगो (डीआरसी) में इटली के राजदूत को देश के पूर्व में संयुक्त राष्ट्र के एक काफिले में यात्रा करते समय सोमवार को एक हमले में मार दिया गया था।

राजदूत, लूका अत्तनासियो और  एक इतालवी काराबिनेरी पुलिस अधिकारी, विटोरियो लाकोवाच्ची के साथ, उनके कांगो वासी चालक, मोवात्फा मिल्म्बो, कांगो की पूर्वी क्षेत्रीय राजधानी से विश्व खाद्य कार्यक्रम (डब्ल्यूएफपी) रुतशुरू में स्कूल परियोजना का दौरा करने के लिए कोमा जा रहे थे। घात लगाकर किये गये हमले में इन तीनों की गोली लगने से मौत हो गई, जबकि काफिले के अन्य लोग घायल हो गए।

डब्ल्यूएफपी ने कहा कि हमला एक ऐसी सड़क पर हुआ जहाँ सुरक्षा एस्कॉर्ट्स के बिना यात्रा के लिए मंजूरी दे दी गई थी। रुतशुरु गोमा से सिर्फ दो घंटे की यात्रा है। क्षेत्रीय राजधानी से बाहर सड़क असुरक्षित है, इस क्षेत्र में संयुक्त राष्ट्र के शांति मिशन की भारी उपस्थिति के बावजूद क्षेत्र में कई सशस्त्र समूह सक्रिय हैं।

शोक संदेश

त्रासदी के मद्देनजर, मिलान के महाधर्माध्यक्ष मारियो डेलपिनी ने एक बयान में अपनी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने राजदूत को "एक सज्जन व्यक्ति", "एक सक्षम राजनयिक," और "एक उद्यमी युवक" के रूप में वर्णित किया, जो मारा गया था। उन्होंने कहा कि उसके साथ, एक पुलिस अधिकारी और उनका ड्राइवर भी एक बेकाबू और विनाशकारी हिंसा के शिकार हुए।"

महाधर्माध्यक्ष डेलपिनी ने डीआरसी की यात्रा की तैयारी के दौरान 2019 में मिलान में राजदूत के साथ हुई मुलाकात को याद किया। उन्होंने यह भी याद किया कि देश की यात्रा के दौरान, उन्होंने राजदूत, उनकी पत्नी और मिशन के बारे में अच्छी खबरें सुनीं, विशेष रूप से एकजुटता के कार्यों के लिए उनकी प्रतिबद्धता के बारे में। साथ ही उन्होंने देश में हिंसा और असुरक्षा के बारे में भी उल्लेख किया था।

इसी तरह से,  दुनिया में साक्षरता को बढ़ावा देने के लिए काम करने वाली संस्था –(ओपैम) के अध्यक्ष फादर रॉबर्ट कासेरेका ने एक बयान में तीन पीड़ितों के परिवारों के प्रति प्रार्थना में अपनी गहरी संवेदना और निकटता व्यक्त की, जिसमें कहा गया है कि सोमवार की दुखद हत्याओं ने इटली को गहरा दुःख दिया है और लोकतांत्रिक गणराज्य कांगो के दर्द में एकजुट है।"

उन्होंने कहा, हालांकि, यह हमला दुर्भाग्य से पिछले 20 वर्षों में क्षेत्र में हुई हिंसा की लंबी सूची में शामिल है। उन्होंने याद किया कि उत्तर किवु के मालम्बो में कुछ दिन पहले ही एक अन्य दस लोगों की हत्या कर दी गई थी, जिसमें एक युवती भी शामिल थी। उन्होंने आगे बताया कि पिछले दो दशकों में हिंसा में 10 मिलियन से अधिक पुरुषों, महिलाओं और बच्चों ने अपनी जान गंवाई है।

यूएन का बयान

 संयुक्त राष्ट्र महासचिव, अंतोनियो गुटेरेस ने सोमवार को अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक पोस्ट में हमले की निंदा की जिसके कारण इतालवी राजदूत, उनके अंगरक्षक और एक डब्ल्यूएफपी सहयोगी की मौत हो गई। उन्होंने अपराधियों को न्याय दिलाने का भी आह्वान किया।

संयुक्त राष्ट्र की वेबसाइट पर महासचिव गुटेरेस के प्रवक्ता ने एक बयान में मृतकों के परिवारों के साथ-साथ इटली की सरकारों और लोकतांत्रिक गणराज्य कांगो के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की।

दुखद हत्याओं ने अन्य इतालवी अधिकारियों और कांगो के अधिकारियों की प्रतिक्रियाओं को भी आकर्षित किया है जिन्होंने हमले पर खेद और दुख व्यक्त किया है और मृतकों के परिवारों के प्रति अपनी निकटता की पुष्टि की है।

डीआरसी

खनिज संपन्न लोकतांत्रिक गणराज्य कांगो वर्षों से हिंसा और असुरक्षा से ग्रस्त है, जिसके परिणामस्वरूप लोगों का व्यापक विस्थापन हो रहा है और गरीबी एवं भुखमरी का सामना करना पड़ रहा है। देश को इबोला वायरस के आंतरायिक प्रकोपों के साथ-साथ, वर्तमान में कोविद -19 महामारी का भी सामना करना पड़ रहा है।

पूर्वी डीआरसी क्षेत्र और प्राकृतिक संसाधनों के नियंत्रण के लिए सशस्त्र समूहों के बीच निरंतर संघर्ष के कारण विशेष रूप से तबाह हो गया है। परिणामी संघर्षों में, हजारों नागरिकों को जानमाल का नुकसान हुआ है और संपत्ति का भयानक नुकसान पहुंचा है।

1999 से, यूएन का शांति मिशन देश में स्थिरता बहाल करने के लिए डीसीआर में काम कर रहा है।

24 February 2021, 15:43