खोज

Vatican News
वूहान के रेलवे स्टेशन वूहान के रेलवे स्टेशन  

कोरोनावायरस के स्रोत की जाँच हेतु डब्ल्यूएचओ टीम पहुँची वूहान

15 सदस्यों की टीम को अपना मिशन शुरू करने से पहले वुहान में एक अनिवार्य दो सप्ताह लंबी संगरोध पूरा करना होगा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वूहान, सोमवार 18 जनवरी 2021 (यूएन न्यूज) : दुनिया भर में वैश्विक महामारी कोविड-19 के लिये ज़िम्मेदार वायरस के स्रोत का पता लगाने के लिये अन्तरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की एक टीम गुरूवार को चीन के वूहान शहर पहुँच गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कोविड-19 पर आपात समिति के सत्र के दौरान ये जानकारी दी है।

अन्तरराष्ट्रीय स्वास्थ्य नियामक नियमों के तहत आपात समिति गठित की गई थी, जिसका दायित्व सार्वजनिक स्वास्थ्य जोखिमों से मुक़ाबले में वैश्विक जवाबी कार्रवाई को आगे बढ़ाना है। कोरोनावायरस के संक्रमण का पहला मामला दिसम्बर 2019 में चीन के वूहान शहर में सामने आया था।

अन्तरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की टीम

यूएन एजेंसी प्रमुख के मुताबिक टीम के 15 में से अधिकाँश सदस्य अब वूहान पहुँच गए हैं जबकि दो सदस्य सिंगापुर में कोविड-19 परीक्षण के नतीजों की प्रतीक्षा कर रहे हैं। यात्रा शुरू किये जाने से पहले टीम के सभी सदस्यों के घरों में अनेक पीसीआर और एण्टी बॉडीज़ टैस्ट किये गए जिनकी रिपोर्ट नकारात्मक आई।

वूहान पहुँचने वाले सदस्य अगले दो हफ़्ते तक एकान्तवास में रहेंगे और चीन में, सामाजिक दूरी बरतते हुए, अपने समकक्षों के साथ रहकर काम करेंगे। एकांतवास की अवधि पूरी होने के बाद टीम के सदस्य ज़मीनी स्तर पर दो और हफ़्तों तक अपना कामकाज जारी रखेंगे।

गुरुवार को अन्तराष्ट्रीय आपात समिति की कोविड-19 पर छठी बैठक हुई। इस समिति के सदस्य, एक वर्ष पहले यानि, वर्ष 2020 में प्रथम बार, मिले थे जब कोविड-19 के संक्रमण के लगभग 560 मामलों की पुष्टि हुई थी।

कोरोना संक्रमण

अब तक दुनिया भर में, संक्रमण के 9 करोड़ 5 लाख 77 हजार से अधिक मामलों की पुष्टि हो चुकी है और मृतकों संख्या लगभग 20 लाख  31 हजार से 600 हो चुकी है।

यूएन एजेंसी प्रमुख के मुताबिक कोविड-19 से निपटने के लिये टीकाकरण की शुरुआत उम्मीद बँधाती है लेकिन सभी देशों में न्यायसंगत वितरण सुनिश्चित किया जाना अहम होगा। उन्होंने आपात समिति के सामने दरपेश, दो महत्वपूर्ण मुद्दों का ज़िक्र किया: हाल के दिनों में वायरस के नए प्रकारों का पता चलना  और अन्तरराष्ट्रीय आवागमन के लिये वैक्सीन और जाँच परीक्षणों का सम्भावित इस्तेमाल।

18 January 2021, 15:37