खोज

Vatican News
होंडुरास के प्रवासियों को ग्वाटेमाला की सीमा पर पुलिस पीछे भेजते हुए होंडुरास के प्रवासियों को ग्वाटेमाला की सीमा पर पुलिस पीछे भेजते हुए  (AFP or licensors)

ग्वाटेमाला सीमा पर प्रवासियों के कारवां को रोका गया

होंडुरास के प्रवासियों का नवीनतम कारवां को पड़ोसी देश ग्वाटेमाला और मैक्सिको के अधिकारियों की अलग-अलग प्रतिक्रिया का सामना करना पड़ रहा है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

ग्वाटेमाला, बुधवार 20 जनवरी 2021 (वाटिकन न्यूज) : ग्वाटेमाला पुलिस और सैन्यबलों ने सड़क पर लगाए गए अवरोधक तोड़कर आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे होंडुरस के प्रवासियों के एक समूह को रोकने के लिए रविवार को आंसू गैस का इस्तेमाल किया और लाठीचार्ज किया। इससे पहले की रात भी करीब 2,000 प्रवासियों के समूह को वाडो होंडा में सड़क पर लगाए गए अवरोधकों से पहले रोका गया था। अमेरिका जाने की कोशिश कर रहे करीब 100 प्रवासियों ने रविवार सुबह साढ़े सात बजे ग्वाटेमाला में घुसने की कोशिश की। सुरक्षा बलों ने उन्हें रोकने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया, जिसमें कुछ प्रवासी घायल हो गए।

होंडुरस के प्रवासियों की अपील

बाद में सैकड़ों प्रवासी सड़क पर बैठ गए और उन्होंने वहां से हटने से इनकार कर दिया। उन्होंने जवानों को अपने मध्य अमेरिकी भाई बताते हुए उनसे अपील की कि उन्हें अमेरिका पहुंचने के लिए वहां से गुजरने दिया जाए।

ग्वाटेमाला के राष्ट्रपति एलेक्जांद्रो गियामात्तेई ने कोविड-19 संक्रमण फैल सकने की आशंका के कारण लोगों के समूहों को गुजरने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है।

सैन पेड्रो सुला, होंडुरास से, तीन हजार की संख्या में शुरू होकर, कारवां अब दस हजार से अधिक लोगों तक बढ़ गया है। अमेरिका के नये राष्ट्रपति जो बिडेन ने पहले से ही संयुक्त राज्य अमेरिका में ग्यारह मिलियन से अधिक अनिर्दिष्ट लोगों के लिए नागरिकता का मार्ग प्रशस्त किया है। लेकिन वे सलाह को अनदेखा कर रहे हैं कि उनके देशों से अमेरिकी सीमा के लिए एक पलायन एक फास्ट ट्रैक समाधान नहीं है। ग्वाटेमाला सरकार होंडुरास में अपने समकक्षों से सामूहिक निकास को रोकने का आग्रह कर रही है और मैक्सिकन विदेश मंत्रालय इस रुख का समर्थन कर रहा है।

बेहतर जीवन की तलाश में

हालांकि, होन्डुरास की आर्थिक स्थिति को ध्यान में नहीं रखा गया है। वहाँ के लोग तीव्र गरीबी, नौकरी की संभावनाओं, संगठित अपराध के निरंतर खतरे और नवंबर में देश में आने वाले वे एटा और आयोटा तूफान के शिकार और महामारी के कहर के कारण अपने घरों को छोड़ कर एक बेहतर जीवन की तलाश में अमेरिका भाग रहे हैं।

 यह एक ऐसी समस्या है जो रातोंरात दूर होने वाली नहीं है, विशेष रूप से आर्थिक सुधार के लिए अनुमानों का वर्षों तक विस्तार होने की संभावना है। वाशिंगटन में आने वाले नये प्रशासन को यह महसूस करना होगा कि उन्हें मध्य अमेरिका में एक बड़े संकट से निपटना होगा। इस निकास रणनीति को स्थिर करने के लिए एक व्यवहारिक समाधान की तत्काल आवश्यकता है।

20 January 2021, 15:10