खोज

Vatican News
12 नवम्बर को पश्चिमी लीबिया के एक समुद्र तट पर मिले शव 12 नवम्बर को पश्चिमी लीबिया के एक समुद्र तट पर मिले शव  (AFP or licensors)

अलग-अलग जहाजों में भूमध्य सागर में डूबने वाले सैंकड़ों प्रवासी

माताओं और उनके छोटे बच्चों सहित 110 से अधिक लोग, पिछले तीन दिनों में लीबिया के तट पर चार जहाजों के डूबने से मर गए हैं।आईओएम के अनुसार, तस्कर पतझड़ के मौसम का फायदा उठाते हुए पिछले हफ्ते में सैकड़ों प्रवासियों समुद्र में भेज चुके हैं। लेकिन अधिकांश यात्राएं त्रासदी में समाप्त हो गई हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

लीबिया, शनिवार 14 नवम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : तीन दिनों के भीतर भूमध्य सागर में चार जहाजों के डूबने से 110 से अधिक लोगों की मौत हो गई है जो अपने घर में गरीबी और देश के संघर्ष से भागने का प्रयास कर रहे थे।

गुरुवार को, सबसे हालिया त्रासदी में कम से कम 70 शव पश्चिमी लीबिया के एक समुद्र तट पर मिले।

प्रवासी अंतर्राष्ट्रीय संगठन (आईओएमI) के अनुसार, उस नाव में महिलाओं और बच्चों सहित 120 से अधिक लोगों को ले जाने की सूचना थी। बचे हुए सात लोगों को कोस्टगार्ड और मछुआरे समुद्र के किनारे लाये।

कुछ घंटों पहले ही, लीबिया के सोमरान के तट पर एक जहाज के डूबने से 20 लोग मारे गये। उस जहाज में जीवित बचे तीन महिलाओं को मेडिसिन्स सान्स फ्रंटियेर्स ने बचाया।

बुधवार को, लीबिया के तट से एक जहाज में 100 से अधिक प्रवासी यात्रा कर रहे थे।उनमें से छह लोगों की मौत हो गई, जिसमें एक छह महीने का लड़का भी शामिल था, जो गिनी का निवासी था।

गुरुवार को ही लीबिया के तट एक और जहाज दुर्घटना में 13 लोग पानी में डूब गये और बाकी बचे 11 लोगों को वापस लीबिया ले जाया गया।

चल रही त्रासदी

आईओएम के अनुसार, तस्कर पतझड़ के मौसम का फायदा उठाते हुए पिछले हफ्ते में सैकड़ों प्रवासियों समुद्र में भेज चुके हैं। लेकिन अधिकांश यात्राएं त्रासदी में समाप्त हो गई हैं।

आईओएम का कहना है कि 2020 की शुरुआत से, लगभग 600 लोग आधिकारिक तौर पर केंद्रीय भूमध्य सागर में मारे गए हैं, लेकिन वास्तविक संख्या बहुत अधिक होने का अनुमान है। 2014 के बाद से उन पानी में कम से कम 20,000 लोग मारे गए हैं।

आईओएम के प्रवक्ता फ्लावियो दी जाकोमो ने कहा कि समुद्र में प्रभावी बचाव की गारंटी और नई त्रासदियों को रोकने के लिए जरुरी परिवर्तन की अब पहले से कहीं अधिक आवश्यक है। ''

संत पापा फ्राँसिस ने भी विभिन्न अवसरों में प्रवासियों के संरक्षण और उनकी प्रतिष्ठा के सम्मान हेतु आह्वान किया है।

14 November 2020, 13:41