खोज

Vatican News
सऊदी अरब द्वारा आयोजित जी 20 आभासी शिखर सम्मेलन के प्रतिभागी सऊदी अरब द्वारा आयोजित जी 20 आभासी शिखर सम्मेलन के प्रतिभागी 

जी 20 अजेंडा में कोरोना वायरस सबसे ऊपर

जैसा कि दुनिया भर के युवा अर्थशास्त्रियों ने "फ्रांसिस की अर्थव्यवस्था" बैठक में भविष्य के लिए एक नए आर्थिक मॉडल पर चर्चा की है, जी 20 के नेता कोरोना वायरस से लड़ने में दुनिया की सबसे शक्तिशाली अर्थव्यवस्थाओं के सहयोग को दिखाने के उद्देश्य से एक ऑनलाइन शिखर सम्मेलन के लिए एकत्रित हुए।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

रियाद्ध, सोमवार 23 नवम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : सऊदी अरब द्वारा आयोजित आभासी शिखर सम्मेलन में, संयुक्त राष्ट्र महासचिव जी 20 नेताओं को किसी भी, कहीं भी, किसी को भी सस्ती और सुलभ, किसी भी कोविद -19 वैक्सीन और चिकित्सीय वैश्विक तंत्र का समर्थन करने के लिए कहा।

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस जी-20 समूह के नेताओं के बीच होने वाली बैठक से पहले एकजुटता और सहयोग की अहमियत को फिर रेखांकित करते हुए कहा, “कोलिद-19 टीकों पर हालिया सफलताएं आशा की किरण पेश करती हैं। लेकिन आशा की उस किरण को सभी तक पहुंचाने की जरूरत है। “इसका अर्थ यह सुनिश्चित करना है कि वैक्सीन को सार्वजनिक कल्याण के रूप में देखा जाए – जनता की वैक्सीन, जो हर किसी के लिये हर स्थान पर किफ़ायती रूप से उपलब्ध हो।”

उन्होंने कहा कि यह एक अच्छा काम कर दिखाने की बात नहीं है, बल्कि यही एक रास्ता है महामारी पर क़ाबू पाने का, जिसके लिये एकजुटता ही बचाव है।

ब्रिटेन के प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि जी -20  महामारी को दूर करने और जीवन और आजीविका की रक्षा के लिए जो कुछ भी कदम लेगा, वे उसे पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

21-22 नवम्बर अपने दो दिवसीय शिखर सम्मेलन के दौरान, प्रतिभागी जलवायु परिवर्तन और वैश्विक व्यापार पर भी बहस किये गये। जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल और रूसी नेता व्लादिमीर पुतिन सहित विश्व नेताओं के शिखर सम्मेलन को संबोधित किया।

23 November 2020, 15:02