खोज

Vatican News
टाइग्रे पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट के सदस्य टाइग्रे पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट के सदस्य  (AFP or licensors)

इथियोपिया में युद्ध विराम चाहता है अफ्रीकी संघ

इथियोपियाई सैनिक और शरणार्थी उत्तरी टाइग्रे क्षेत्र में लड़ाई के कारण भाग रहे हैं और सूडान की सीमा पार कर गए हैं।अफ्रीकी संघ आयोग के अध्यक्ष मौसा फकी महामत ने "शत्रुता को तुरंत समाप्त करने" का आह्वान किया है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

अदीस अबाबा, बुधवार 11 नवम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : क्षेत्र से प्राप्त रिपोर्टों के अनुसार, टाइग्रे पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट(टीपीएलएफ) और देश की सेना दोनों ओर से सैकड़ों लोग मारे गए हैं।

प्रधानमंत्री अबी अहमद ने कहा है कि सेना टाइगरे क्षेत्र में लड़ाई को समाप्त करेगी और अपने नेतृत्व को हटाएगी, जिसे उनकी सरकार अवैध मानती है।

पिछले हफ्ते, अहमद ने टीपीएलएफ के नाम से पहचाने जाने वाले टाइग्रे पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट द्वारा क्षेत्रीय राजधानी मेकेले में एक सैन्य शिविर पर हमले का जवाब देने के लिए अपनी सेना को आदेश दिया था।

 इथियोपियाई सरकार ने टाइग्रे जिले में छः महीने के आपातकाल की घोषणा कर दी है। प्रधानमंत्री अहमद ने कहा कि अवैध और हिंसक गतिविधियां देश की संप्रभुता के लिए खतरा पैदा कर दी है।

इस बीच, अफ्रीकी संघ आयोग के अध्यक्ष मौसा फकी महामत ने "शत्रुता को तुरंत समाप्त करने" का आह्वान किया है।

शनिवार को, इथियोपिया के काथलिक धर्माध्यक्षों ने शांतिपूर्ण बातचीत के लिए अपील की और पार्टियों से आग्रह किया कि वे अपने मतभेदों को सौहार्दपूर्वक, सम्मान और समझ की भावना से हल करें।

11 November 2020, 15:21