खोज

Vatican News
भारत के सिकन्दराबाद स्थित सन्त जोसफ वृद्धाश्रम के वयोवृद्ध, तस्वीरः 01.10.2020  भारत के सिकन्दराबाद स्थित सन्त जोसफ वृद्धाश्रम के वयोवृद्ध, तस्वीरः 01.10.2020   (AFP or licensors)

वयोवृद्धों के लिये समावेशी समाजों का आग्रह

पहली अक्टूबर को मनाये गये वयोवृद्धों को समर्पित विश्व दिवस के उपलक्ष्य में संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव अन्तोनियो गुतेरेस ने एक सन्देश प्रकाशित कर इस ओर ध्यान आकर्षित कराया है कि आगामी तीन दशकों के अन्तर्गत विश्व में वृद्ध लोगों की संख्या दुगुनी से अधिक यानि कि 1.5 अरब से अधिक हो जायेगी।

न्यूयॉर्क, शुक्रवार, 2 अक्टूबर 2020 (वाटिकन न्यूज़): इसी बीच, पहली अक्टूबर को मनाये गये वयोवृद्धों को समर्पित विश्व दिवस के उपलक्ष्य में संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव अन्तोनियो गुतेरेस ने एक सन्देश प्रकाशित कर इस ओर ध्यान आकर्षित कराया है कि आगामी तीन दशकों के अन्तर्गत विश्व में वृद्ध लोगों की संख्या दुगुनी से अधिक यानि कि 1.5 अरब से अधिक हो जायेगी।

कोविद महामारी की मार   

संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव ने कहा कि कोविद-19 महामारी का सर्वाधिक दुष्प्रभाव वयोवृद्ध व्यक्तियों पर पड़ा है। उन्होंने कहा कि इस महामारी ने केवल वृद्धों के स्वास्थ्य को ही प्रभावित नहीं किया है अपितु उनके अधिकारों एवं उनके जीवन यापन के तरीकों को भी ख़तरे में डाला है। महासचिव ने कहा, "कोविद -19 को मात देने के हमारे प्रयासों में वृद्ध लोगों को प्राथमिकता दी जीनी चाहिये।" इस सन्दर्भ में, उन्होंने कहा, अंतरराष्ट्रीय समुदाय को यह जांचने की ज़रूरत है कि महामारी कैसे बदल सकती है, हम अपने समाजों में उम्र और ढलती उम्र को कैसे संबोधित करते हैं। उन्होंने बुजुर्गों के लिए अधिक अवसरों जैसे कि स्वास्थ्य सेवा, पेंशन और सामाजिक सुरक्षा का आह्वान किया।

वयोवृद्ध लोगों की शक्ति

इस तथ्य की ओर ध्यान आकर्षित कराते हुए कि 2020-2030 का दशक स्वास्थ्यकर उम्र के विकास को समर्पित है, महासचिव गुतेरेस ने कहा कि वृद्ध लोगों के जीवन, उनके परिवारों एवं समुदायों की परिस्थिति में सुधार हेतु प्रयास ज़रूरी हैं। उन्होंने कहा, "वृद्ध व्यक्तियों की क्षमता स्थायी विकास के लिए एक शक्तिशाली आधार है, अस्तु, आयु के अनुकूल समाज के निर्माण हेतु वृद्ध लोगों को सुनने, उनके सुझावों पर ध्यान देने तथा उनके विचारों पर ग़ौर करनी की तान्त आवश्कता है।"

जनसांख्यकि

संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा प्रकाशित आँकड़ों के अनुसार, विश्वव्यापी स्तर पर, 2019 में 65 या उससे अधिक आयु वर्ग के 70 करोड़ 30 लाख व्यक्ति थे। पूर्वी और दक्षिण-पूर्वी एशिया में वृद्ध व्यक्तियों की संख्या सर्वाधिक विशाल बताई गई जो 26 करोड़ दस लाख थी, जिसके बाद यूरोप और उत्तरी अमरीका में वयोवृद्धों की संख्या दो करोड़ से अधिक बताई गई। संयुक्त राष्ट्र संघ का अनुमान है कि 2020 के अन्त तक 60 वर्ष एवं इससे अधिक आयु वाले लोग पाँच वर्ष के बच्चों की संख्या से कहीं अधिक होंगे।    

02 October 2020, 11:05