खोज

Vatican News
फादर रॉबर्ट मालगेसिनी फादर रॉबर्ट मालगेसिनी  (ANSA)

इटली में मारे गए काथलिक पुरोहित को इटली का सर्वोच्च नागर सम्मान

इटली के राष्ट्रपति सरजियो मात्तारेल्ला ने शुक्रवार को इताली शहर कोमो में विगत माह मारे गये काथलिक पुरोहित फादर रॉबर्ट मालगेसिनी को नागर वीरता के सर्वोच्च सम्मान से सम्मानित किया।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

रोम, शुक्रवार, 9 अक्तूबर 2020 (सी.एन.ए.): इटली के राष्ट्रपति सरजियो मात्तारेल्ला ने शुक्रवार को इताली शहर कोमो में विगत माह मारे गये काथलिक पुरोहित फादर रॉबर्ट मालगेसिनी को नागर वीरता के सर्वोच्च सम्मान से सम्मानित किया।

उत्तरी इटली के कोमो शहर में आवासहीन, आप्रवासी एवं शरणार्थियों की सेवा के लिये विख्यात 51 वर्षीय फादर रॉबर्ट मालगेसिनी को उनकी पल्ली सन्त रॉको गिरजाघर के प्राँगण में ही 15 सितम्बर को छुरा भोंक कर मार डाला गया था। फादर का हत्यारा उन आप्रवासियों में से एक था जिनकी वे मदद किया करते थे।  

राष्ट्रपति मात्तारेल्ला

राष्ट्रपति महोदय ने फादर मालगेसिनी की पुरस्कार आज्ञप्ति पर हस्ताक्षर करते हुए गुरुवार को कहा, "उदार और अथक आत्म-समर्पण के साथ उन्होंने हमेशा कड़ी मेहनत की तथा मानवीय एकजुटता के मूल्यों के यथार्थ व्याख्याकार रूप में, उन्होंने दुर्बल से दुर्बलतम लोगों की देखभाल की और प्रेमपूर्वक उनका स्वागत एवं समर्थन किया।"  

मानसिक विकारों से ग्रस्त ट्यूनिसिया के एक 53 वर्षीय आप्रवासी ने स्वतः को पुलिस के सिपुर्द कर यह स्वीकार किया था कि उसने ही छुरा भोंककर फादर मालगेसिनी की हत्या की थी।    

फादर मालगेसिनी के साथ-साथ विली मोनटेरो नामक युवक को भी मरणोपरान्त इटली के नागर वीरता स्वर्ण पदक से सम्मानित किया गया। इटली में जन्में विली मोंटेइरो डुएर्टे के माता-पिता अफ्रीकी द्वीप केप वेर्दे राष्ट्र से हैं। 06 सितम्बर को, रोम में एक दोस्त के बचाव में आगे आये विली मोन्टेरो को कुछ गुण्डों ने पीट-पीट कर मार डाला था। राष्ट्रपति मात्तारेल्ला ने कहा कि दोनों ही पुरुषों की हत्या, हम सब के लिये, परम बलिदान के बिन्दु तक, सेवा का एक उज्जवल उदाहरण है।

सन्त पापा फ्राँसिस

फादर मालगेसिनी की हत्या के दूसरे दिन सन्त पापा फ्राँसिस ने कहा था कि वे फादर मालगेसिनी की शहादत तथा निर्धनों के प्रति उनके उदार कार्यों के लिये प्रभु ईश्वर के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हैं। सन्त पापा ने इस बात की ओर ध्यान आकर्षित कराया था कि फादर मालगेसिनी की हत्या एक ऐसे शक्स द्वारा की गई थी जिसकी उन्होंने मदद की थी, ऐसे पुरुष द्वारा जो ख़ुद मानसिक विकारों से ग्रस्त था। फादर मालगेसिनी की हत्या के उपरान्त सन्त पापा ने उन सभी पुरोहितों, धर्मबहनों एवं लोकधर्मियों के लिये प्रार्थना का आह्वान किया था जो ज़रूरतमन्दों एवं समाज द्वारा बहिष्कृत लोगों की सेवा में संलग्न हैं।  

09 October 2020, 11:56