खोज

Vatican News
अफ्रीका के कैमरून में कोविद महामारी के बीच शुरु हुए स्कूल अफ्रीका के कैमरून में कोविद महामारी के बीच शुरु हुए स्कूल  (AFP or licensors)

विश्व के एक तिहाई बच्चे दूरस्थ शिक्षा से वंचित

संयुक्त राष्ट्र संघीय बाल आपात कोष यूनीसेफ ने प्रकाशित किया है कि कोविद-19 महामारी और इससे जुड़े लॉकडाऊन के समय कम से कम चालीस करोड़ 63 हज़ार स्कूली बच्चे दूरस्थ शिक्षा यानि कथित डिस्टेन्स लर्निंग से वंचित रह गये।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

न्यूयॉर्क, शुक्रवार, 28 अगस्त 2020 (वाटिकन न्यूज़): संयुक्त राष्ट्र संघीय बाल आपात कोष यूनीसेफ ने प्रकाशित किया है कि कोविद-19 महामारी और इससे जुड़े लॉकडाऊन के समय कम से कम चालीस करोड़ 63 हज़ार स्कूली बच्चे दूरस्थ शिक्षा यानि कथित डिस्टेन्स लर्निंग से वंचित रह गये।   

गुरुवार को प्रकाशित अपनी रिपोर्ट में यूनीसेफ ने कहा कि लॉकडाऊन के काल में स्कूलों के बन्द कर दिये जाने के कारण लगभग 1.5 अरब स्कूली बच्चे प्रभावित हुए।

दूरस्थ शिक्षा से वंचित

यूनिसेफ की कार्यकारी निदेशक एनरियेत्ता फोर ने कहा, "कम से कम चालीस करोड़ 63 हज़ार स्कूली बच्चों के लिए दूरस्थ शिक्षा जैसी कोई चीज नहीं थी"। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा, "इतने महीनों तक इतनी बड़ी संख्या में बच्चों की शिक्षा का बाधित हो जाना, वास्तव में, विश्व भर की शिक्षा के लिये आपातकालीन स्थिति है, जिसके दुष्परिणामों को भावी दशकों की अर्थव्यवस्थाओं और समाजों में महसूस किया जा सकेगा।"

गहरी असमानता

यूनीसेफ की रिपोर्ट उस समय प्रकाशित की गई जब सम्पूर्ण विश्व में "स्कूल वापसी" के प्रयास जारी हैं तथा विभिन्न राष्ट्रों एवं क्षेत्रों में गहरी असमानताएँ देखी जा रही हैं। उदाहरणार्थ, अफ्रीका के उप-सहारा क्षेत्र के स्कूली बच्चे कोविद- महामारी एवं स्कूलों के बंद होने से सर्वाधिक प्रभावित हुए हैं, जिनकी संख्या 12 करोड़ दस लाख बताई जाती है। इन बच्चों के पास दूरस्थ शिक्षा के कोई साधन नहीं थे। इसी प्रकार, दक्षिण एशिया के देशों में दूरस्थ शिक्षा से वंचित बच्चों की संख्या 14 करोड़ 70,000 रही है।      

रिपोर्ट में कहा गया कि विश्व व्यापी स्तर पर 72 प्रतिशत स्कूली बच्चे दूरस्थ शिक्षा से वंचित रहे। इस समय जब सरकारें लॉकडाऊन के बाद स्कूलों के पुनर्राम्भ की कोशिश में लगी हैं, यूनीसेफ विश्व की समस्त सरकारों का आह्वान करता है कि वे डिजिटल-डिवाइड को पाटने का हर सम्भव प्रयास करें।

28 August 2020, 11:37