खोज

Vatican News
विनाशकारी विस्फोट के बाद का बेरुत शहर विनाशकारी विस्फोट के बाद का बेरुत शहर  (ANSA)

लेबनान की मदद हेतु अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन

बेरूत में मंगलवार को हुए विनाशकारी विस्फोट के बाद विश्व के नेताओं ने रविवार को लेबनान के लिए आपातकालीन सहायता पर चर्चा की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

पेरिस, सोमवार 10 अगस्त,2020 (वाटिकन न्यूज) : फ्रांस और यूएन द्वारा आयोजित एक आभासी सम्मेलन को राष्ट्रपति मैक्रोन ने संबोधित किया। अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप उन वैश्विक नेताओं में शामिल हैं जो वर्चुअल डोनर सम्मेलन में हिस्सा लिया। मुख्य प्राथमिकताओं में खाद्य सहायता, चिकित्सा उपकरण और, बेरूत शहर को फिर से बनाने के लिए धन एकत्र करना है। अधिकांश मकान विस्फोट में नष्ट हो गए।

मैक्रॉन ने अपनी शुरुआती टिप्पणी में कहा, "हमें जल्दी और कुशलता से काम करना चाहिए ताकि यह सहायता सीधे उस जगह पर पहुंच जाए जहां इसकी जरूरत है।" लेबनान के लोग अपनी आकांक्षाओं को वैध रूप से, बेरूत की गलियों में व्यक्त कर रहे हैं।

ऐसा अनुमान है कि विस्फोट से 15 बिलियन डॉलर तक का नुकसान हुआ और साथ ही 158 लोग मारे गए, 5,000 लोग घायल हुए और 300,000 बेघर हो गए हैं।

राष्ट्रपति मैक्रोन ने कहा कि सहायता की पेशकश में विस्फोट की निष्पक्ष, विश्वसनीय और स्वतंत्र जांच के लिए समर्थन शामिल है। कई देश अपनी ओर से मदद दे चुके हैं। अमरीका ने शुक्रवार को घोषणा की कि वो तुरंत 15 मिलियन डॉलर का खाना और दवाइयां भेजेगा।

विस्फोट से पहले भी लेबनान गहरे आर्थिक संकट से जूझ रहा था और कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए संघर्ष कर रहा था।

लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भयानक धमाके के चार दिन बाद अपने नेताओं से नाराज़ लेबनान के हज़ारों लोग फिर से सड़कों पर उतरे। कई सरकारी मंत्रालयों को घेराव करने के बाद शनिवार को पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले दागे, जिसके बाद प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़पें हुईं।

लेबनान के राष्ट्रपति मिशेल ऑन धमाके की अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग को खारिज कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन इस बात की जांच करेगा कि कहीं ये घटना 'बाहरी हस्तक्षेप' जैसे किसी बम की वजह से तो नहीं हुई। संकट के जवाब में, लेबनान के प्रधान मंत्री ने जल्दी चुनाव कराने का वादा किया।

10 August 2020, 15:09