खोज

Vatican News
कतानिया में धर्मप्रांतीय कारितास कतानिया में धर्मप्रांतीय कारितास 

स्थानीय समुदाय को मजबूत बनायें, कारितास अंतरराष्ट्रीय

विश्व मानवतावादी दिवस 2020 के अवसर पर, कारितास इंटरनेशनल ने सरकारों से स्थानीय समुदायों को सशक्त बनाने का आग्रह किया, जो “मानवीय कार्यों के प्रथम प्रतिभागी हैं”।

दिलीप संजय एक्का-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, गुरूवार, 20 अगस्त 2020 (रेई) वार्षिक विश्व मानवतावादी दिवस की शाम निर्गत व्यक्तव्य में अंतरराष्ट्रीय कारितास के सचिव अलोसियुस जोन ने कहा, “इस दिन अन्तराष्ट्रीय समुदाय उन हजारों लोगों के उदारतापूर्ण कार्यों की याद करती है जो गरीबों और आपदा पीड़ितों के सम्मानपूर्ण जीवन की आशा करते हुए अपने जीवन को मानवीय सम्मान में जीते हैं”।

इस वर्ष कोविड-19 महामारी के बीच इस दिन को मनाया जा रहा है वहीं यह लेबनान में 4 अगस्त को हुए बड़े विस्फोट के तुरंत बाद आता है जिसमें कई लोगों की जानें चली गयीं। अतः कारितास अंतरराष्ट्रीय इस बात हेतु आह्वान करती है कि स्थानीय समाज के संगठनों की सहायता हेतु विशेषकर विश्व के विश्वासी समुदाय आगे आयें जिससे स्थानीय समुदायों को मजबूत बनाया जा सके। कारीतास अंतरराष्ट्रीय 162 देशों का राहत और विकास संघों की एक वैश्विक परिसंघ है जो नागरिक समाज काथलिक का दूसरा सबसे बड़ा नेटवर्क है जो कि विश्व के सभी देशों में फैला हुआ है। इसका मुख्य उद्देश्य प्रकृतिक आपदा के समय में गरीब देशों की सेवा और सुरक्षा करना है।

स्थानीय समुदाय एकता के प्रथम स्थल

वक्तव्य में कहा गया, “प्रकृति आपदा अपने में जलिट होते जा रहे हैं जहाँ लोगों को बहुत ही कठिनाइयों का समान करना पड़ता है, ऐसी परिस्थिति में प्रथम सेवा स्थानीय लोगों के द्वारा आती है, जो प्रभावित लोगों को जरुरत के मुताबिक उचित सेवा देने हेतु आगे आते हैं”।  

कोविड-19 महामारी के समय में भी जब दुनिया अपने में सघर्षरत है कारितास उस स्थानीय समुदायों की ओर हमारा ध्यान आकृष्ट करती है जिन्होंने स्वतंत्र रुप से महामारी की रोकथाम हेतु अपनी ओर से महत्वपूर्ण कदम उठाये हैं। कारितास ऩे कहा कि बहुत से समुदाय महामारी से बचाव हेतु अतिसंवेदशील लोगों की सेवा कर रहे हैं इसके साथ ही वे लोगों के मध्य इसके बचाव हेतु जागरूकता लाने की भरसक कोशिश में लगे हैं जिससे संक्रमण से बचा जा सकें।

वक्तव्य में कहा गया कि इस ऐतिहासिक परिस्थिति में, “अंतरराष्ट्रीय मानवीय व्यवस्था को परीक्षा के दौर से होकर गुजराना पड़ रहा है जो पहले कभी नहीं हुआ जहाँ मानवीय प्रेरिताई वैश्विक स्तर पर लोगों को सेवा देने की कोशिश कर रही है। यही कारण है कि कारितास मानवीय सहायता के स्थानीयकरण को पूरी तरह समर्थन करती है जिससे वे स्थानीय समुदायों की स्वायत्तता के साथ अपने कार्यों को कर सकें।

अलोसियुस जोन ने कहा, “विश्व मानवतावादी दिवस हमें मानवता की सेवा हेतु अपने कार्यों में नवीनता लाने हेतु मदद करें जहाँ हम सरकार और अंतरराष्ट्रीय समुदायों के साथ मिलकर स्थानीय मानव समाज को मजबूत बना सकें विशेषकर विश्वास में स्थापित संगठनों को जो स्थानीय समुदाय के अंग हैं।

उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में जब स्थानीयता के कार्यक्रमों को लागू किया जाता है यह महत्वपूर्ण है कि नागरिक समाज संगठनों को प्रर्याप्त चीजें प्रदान की जायें जिसे वे स्थानीय समुदाय को सशक्त बना सकें और लोगों को आत्म निर्भर होने में मदद कर सकें।

कारितास की आपील

कारितास ने सरकारों से आग्रह किया कि वे स्थानीय नागरिक समाज को फंड मुहैया कराये जिससे वे बुनियादी जरुरतों को पूरा कर सकें साथ ही स्थानीय समुदायों हेतु भी कुछ फंड निर्धारित किया जाये जिससे वे आपदा काल में उचित कार्यों को कर सकें। कारितास ने मानववादी कार्यों और स्थानीय समुदायों की हितों की रक्षा पर जोर दिया।

विश्व मानवता दिवस

सन् 2008 में संयुक्त राष्ट्रों की सभा ने 19 अगस्त को विश्व मावनतावादी दिन की घोषणा की जो 19 अगस्त 2003 को बगदाद के कानाल होटल में बम धमाके के उपरांत घोषित की गई जिसमें इराक के यूएन मानवादी प्रमुख सेरजो बियेरा दे मेलो के अलावे करीबन 22 लोग मारे गये थे। विश्व मानवतावादी दिवस सर्वप्रथम 19 अगस्त 2009 को मनाया गया था।

20 August 2020, 15:45