खोज

Vatican News
विरोध प्रदर्शन में सैन्य हस्तक्षेप विरोध प्रदर्शन में सैन्य हस्तक्षेप  (AFP or licensors)

बेलारूस राष्ट्रपति के खिलाफ रैली के बाद विपक्षी नेता हिरासत में

बेलारूस में अधिकारियों ने राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको के खिलाफ अब तक की सबसे विशाल रैली के बाद दो प्रमुख विपक्षी कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है।

माग्रेट सुनीता मिंज - वाटिकन सिटी

मिन्सक, मंगलवार 25 अगस्त 2020 (वाटिकन न्यूज) : विपक्ष की समन्वय परिषद ने सोमवार को कहा कि पुलिस ने अपने सदस्यों सर्गेई डाइल्वस्की और ओल्गा कोवलकोवा को राजधानी मिन्स्क में हिरासत में लिया। सिटी पुलिस ने पुष्टि की कि उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है।

विपक्षी नेताओं ने राष्ट्रपति लुकाशेंको के इस्तीफे की मांग करते हुए विशाल विरोध प्रदर्शन किया। विपक्षी नेता राष्ट्रपति  लुकाशेंको एक तानाशाह के रूप में देखते हैं।

रविवार को 200,000 से अधिक लोगों ने राष्ट्रपति के खिलाफ प्रदर्शन किया, हालांकि राष्ट्रपति ने विपक्ष को कुचलने की कसम खाई थी। पिछले विरोध प्रदर्शनों में पहले से ही कई लोग मारे गए थे और सैकड़ों लोग पुलिस के साथ संघर्ष में घायल हुए थे। हजारों लोगों को हिरासत में लिया गया है।

लेकिन लुकाशेंको द्वारा सैन्य हस्तक्षेप की धमकी से बेलासरियों ने स्पष्ट कर दिया कि लुक्शेंको को अपना पद छोड़ना होगा। उन्हें विश्वास नहीं होता कि लुकाशेंको ने 9 अगस्त का राष्ट्रपति चुनाव जीता। अधिकारियों का दावा है कि उन्हें लगभग 80 प्रतिशत वोट मिले और विपक्षी नेता श्वेतलाना को मात्र 10 प्रतिशत वोट मिले। परंतु विपक्षियों का मानना है कि चुनाव बड़े पैमाने पर धांधली की गई है। चुनाव में कोई स्वतंत्र परिपेक्षक नहीं था।

बल का प्रदर्शन

रविवार को मिन्स्क में एक बल प्रदर्शन में, राष्ट्रपति लुकाशेंको ने काला कवच पहने और एक राइफल पकड़े हुए एक हेलीकॉप्टर से राष्ट्रपति स्वतंत्रता पैलेस में भारी सशस्त्र सुरक्षा बलों के साथ पहुंचा।

आस-पास विरोध प्रदर्शन के बीच  राज्य के प्रमुख ने स्पष्ट किया कि उनका इस्तीफा देने का कोई इरादा नहीं है। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को उनके सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। बदले में, कानून प्रवर्तन कर्मियों ने लुकाशेंको की सराहना की और चिल्लाया कि वे सत्तावादी नेता के साथ "अंत तक" खड़े रहेंगे।

उसके बाद, राष्ट्रपति हेलीकॉप्टर में सवार हो गए और अपने आवास से रवाना हो गए। ऊपर से, वे सड़क पर निकली विशाल विरोध प्रदर्शन देख सकते थे। लुकाशेंको 26 साल से बेलारुस की सत्ता पर जमे हुए हैं।

यूरोपीय संघ और संयुक्त राज्य अमेरिका ने स्थिति के बारे में चिंता व्यक्त की है। यूरोपीय संघ के अधिकारी प्रदर्शनकारियों पर कार्रवाई के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ अधिक प्रतिबंधों पर विचार कर रहे हैं।

25 August 2020, 14:26