खोज

Vatican News
बेरुत के लोग बेरुत के लोग  (ANSA)

लेबनान में संरचनात्मक सुधारों की तत्काल आवश्यकता, डब्ल्यूसीसी

कलीसियाओं के विश्व संगठन (डब्ल्यूसीसी) ने आधुनिक इतिहास में अपने सबसे गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रही लेबनान के प्रति अपनी चिंता व्यक्त की है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

लेबनान,सोमवार 27 जुलाई 2020 (वाटिकन न्यूज) : लेबनान वर्तमान में आर्थिक, वित्तीय, सामाजिक और राजनीतिक स्तरों पर कई चुनौतियों का सामना कर रहा है, जिनके लिए त्वरित पहल की आवश्यकता है।

पिछले साल के अंत में स्थानीय बैंकों ने निकासी को सीमित करना शुरू कर दिया था और इस साल मई तक, यह स्पष्ट था कि वित्तीय प्रणाली सख्त स्थिति में थी। स्थानीय मुद्रा की कीमत गिर गई और इसके साथ अर्थव्यवस्था भी। कोरोनोवायरस महामारी के कारण पर्यटन और व्यापार में कटौती मामलों को और जटिल बना दिया।

अप्रत्याशित रूप से, बहुत से लोग बेरोजगार हैं और 50 प्रतिशत लोग गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे है। मामलों को बदतर बनाने के लिए, लेबनान ने पिछले महीने बिजली की कटौती में वृद्धि देखी है क्योंकि बिजली उत्पादन के लिए उपयोग किए जाने वाले ईंधन की कमी है।

एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में इस मुद्दे पर चर्चा करते हुए, कलीसियाओं के विश्व संगठन की कार्यकारी समिति ने लेबनान की वर्तमान स्थिति के बारे में चिंता व्यक्त की। डब्ल्यूसीसी की कार्यकारी समिति ने एक बयान में कहा,“युद्ध, और संघर्ष का सामना करता हुआ लेबनान आशा का एक उदाहरण और लचीलापन का प्रतीक बना हुआ है। यह उदाहरण अब ख़तरे में है।”

समिति ने पुष्टि की कि यह स्थिरता, एकता और संप्रभुता को सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक संरचनात्मक सुधार लेबनान सरकार पर अवलंबित था।

हाल के हफ्तों में, लेबनान आईएमएफ के साथ एक बचाव योजना पर बातचीत कर रहा है, लेकिन अभी तक एक आम सहमति तक पहुंचने में विफल रहा है।

27 July 2020, 14:51