खोज

Vatican News
माली में राजनीतिक विद्रोह माली में राजनीतिक विद्रोह  (AFP or licensors)

विपक्षी नेताओं द्वारा इकोवास योजना को खारिज

माली के राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबकर कीता के विरोधियों ने देश के जारी राजनीतिक संकट को हल करने के लिए पश्चिम अफ्रीकी राज्यों के आर्थिक समुदाय द्वारा दिये गये प्रस्तावों को अस्वीकार कर दिया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

माली, बुधवार 29 जुलाई 2020 (वाटिकन न्यूज) :  माली में, राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबकर कीता के विरोधियों ने एक आर्थिक संकट को समाप्त करने के लिए पश्चिम अफ्रीका के आर्थिक समुदाय - इकोवास - के प्रस्तावों को खारिज कर दिया है, जो कि जून की शुरुआत से चल रहा है।

संघर्ष स्थानीय चुनावों के दरमियान शुरू किया गया था, हालांकि इसकी गहरी जड़ें हैं, जिसमें देश के उत्तरी और मध्य भागों में हिंसा को समाप्त करने में सरकार की अक्षमता भी शामिल है।

विपक्षी समूहों का कहना है कि इकोवास के नवीनतम प्रस्ताव पहले की योजनाओं से भिन्न नहीं हैं, जिन्हें पहले खारिज कर दिया गया था।

जून में देश के संवैधानिक न्यायालय द्वारा 31 संसदीय चुनावों के परिणामों को पलटने के बाद से हजारों लोग सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। कोर्ट के फैसले से राष्ट्रपति कीता की पार्टी को फायदा हुआ। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, जून में विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ, कम से कम 14 लोग मारे गए।

इकोवास

इकोवास, पश्चिम अफ्रीका में स्थित पंद्रह देशों का एक क्षेत्रीय राजनीतिक और आर्थिक संघ, संसद के 31 विवादित सदस्यों के इस्तीफे और नए चुनाव की मांग कर रहा है। उन्होंने गटबंधन सरकार के निर्माण का प्रस्ताव रखा हैं, जिसमें विपक्ष के सदस्य भी शामिल हों और प्रदर्शनकारियों के मौत की जांच की जाए।

हालांकि, इकोवास ने कहा है कि क्षेत्रीय नेता विपक्ष की प्रमुख मांगों में से एक,  राष्ट्रपति कीता द्वारा मजबूरी में किये गये इस्तीफे को स्वीकार नहीं करेंगे।

इकोवास ने "हमारी चिंताओं को कम कर दिया है, ऐसे समय में जब हम शासन के संकट से गुजर रहे हैं, इस स्तर पर माली के लोग बदलाव चाहते हैं।"विपक्ष के नेताओं में से एक, चोगुएल माईगा ने कहा। 

यह स्पष्ट नहीं है कि विपक्ष आगे किस तरह से प्रतिक्रिया करेगा। बहुसंख्यक मुस्लिम देश में विरोध प्रदर्शन इस्लामिक अवकाश ईद अल-अधा तक रोक दिया गया है, जो 31 जुलाई की शाम को समाप्त होगा।

29 July 2020, 14:51