खोज

Vatican News
फ्रांस में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन फ्रांस में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन  (AFP or licensors)

फ्रांस : स्वास्थ्य कर्मचारियों के लिए आठ बिलियन से अधिक यूरो

फ्रांस की सरकार ने यूनियनों के साथ आठ बिलियन यूरो देने का समझौता किया है ताकि कठिनाई में पड़े देश के स्वास्थ्य कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की जा सके। फ्रांस के हाल ही में नियुक्त प्रधानमंत्री जीन कैस्टेक्स ने कहा कि विनाशकारी कोरोना वायरस महामारी के बीच यह कदम बहुत महत्वपूर्ण था।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

पेरिस, बुधवार 15 जुलाई 2020 (वाटिकन न्यूज) : जब फ्रांस में वायरस का प्रकोप हुआ, तो लोगों ने हर रात ताली बजाते हुए स्वास्थ्य कर्मियों की सराहना की। लेकिन स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने शिकायत की कि अगर उनकी जरुरतों को पूरी करने के लिए ठोस कदम नहीं लिये गये तो सराहना के ऐसे इशारे खोखले हैं।

लंबे समय बाद, अब फ्रांसीसी सरकार उनकी मांगों को पूरा करना चाहती है। इसमें कहा गया है कि नए पैकेज में नर्सों और देखभाल करने वालों के लिए वेतन वृद्धि के लिए 7.5 बिलियन यूरो (8.5 बिलियन डॉलर) शामिल हैं। उन्हें औसत मासिक वृद्धि 183 यूरो ($ 208) मिलेगी।

डॉक्टरों के लिए 450 मिलियन यूरो (510 मिलियन डॉलर) भी हैं, जो सार्वजनिक क्षेत्र में पूरी तरह से काम करने वालों के लिए बेतन बढ़ाने का इरादा रखते हैं। यह कदम उन्हें अपने निजी क्लीनिक को छुड़वाने के इरादे से लिया गया है।  

प्रधान मंत्री कैस्टेक्स ने इसे अपने राष्ट्र के परेशान स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के लिए "एक ऐतिहासिक क्षण" कहा। उन्होंने स्वीकार किया कि यह उन लोगों की पहचान है जो महामारी के खिलाफ लड़ाई में अग्रिम पंक्ति में रहे हैं।

लेकिन सभी इस सौदे से खुश नहीं हैं। हार्ड-लाइन सीजीटी सहित कुछ यूनियनों ने भी समझौते पर हस्ताक्षर करने से इनकार कर दिया। यह एक संकेत था कि इस मुद्दे पर तनाव बना हुआ है।

अधिकारियों ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी अबतक फ्रांस में 30,000 से अधिक लोगों की जान ले चुकी है। जबकि संक्रमण दर में उल्लेखनीय गिरावट आई है।

15 July 2020, 13:45