खोज

Vatican News
जॉर्ज फ्लोएड की मौत के विरोध में पोस्टर  जॉर्ज फ्लोएड की मौत के विरोध में पोस्टर  

यूएस धर्माध्यक्षों द्वारा फ्लोएड की हत्या की निंदा

अमरीका में एक निहत्थे अमरीकी- अफ्रीकी की हत्या पर भड़की व्यापक हिंसा और अशांति के बीच, देश के काथलिक धर्माध्यक्षों ने इस कृत्य की निंदा की है और कहा है कि "नस्लवाद को बहुत लंबे समय तक सहन किया गया है"।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

अमरीका, मंगलवार, 2 जून 2020 (वीएन) – अमरीकी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष लोस एंजेल्स के महाधर्माध्यक्ष ने मिनियापोलिस, मिनेसोटा के पुलिस हिरासत में 25 मई को जॉर्ज फ्लोएड की मौत के बाद, धर्माध्यक्षों की भावनाओं को व्यक्त करते हुए रविवार को एक बयान जारी किया। 

धर्माध्यक्षों ने "आत्म-विनाशकारी और आत्म-पराजय" दोनों प्रकार की हिंसा की निंदा की है जो नस्लीय समानता और मानव गरिमा को आगे नहीं बढ़ाता है।

अमरीकी धर्माध्यक्ष : नस्लवाद अतीत की चीज नहीं

46 साल के फ्लोएड को जमीन पर पटकने के लिए अपने घुटने का इस्तेमाल करते हुए एक श्वेत पुलिस अधिकारी और हथकड़ी में जमीन पर सांस नहीं ले पाने रहे व्यक्ति का फुटेज, सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसको लेकर देशव्यापी हिंसा फैल रही है।

जार्ज फ्लोएड की हत्या – भावनाहीन और क्रूर

अमरीकी धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष ने मन्नियापोलिस, लोस एंजेल्स और देशभर में अश्वेत समुदाय का समर्थन करते हुए लिखा, "जॉर्ज फ्लोयड की हत्या एक भावनाहीन एवं क्रूर कृत्य है, एक पाप है जो न्याय के लिए स्वर्ग की ओर आवाज उठा रही है।"

धर्माध्यक्ष ने लिखा है कि "क्रूरता एवं हिंसा जिसको फ्लोएड ने सहा, वह कानून प्रवर्तन में अच्छे पुरुषों और महिलाओं को प्रतिबिंबित नहीं करता, जो सम्मान के साथ अपना कर्तव्य करते हैं।" उनकी उम्मीद है कि नागरिक अधिकारी उनकी हत्या की सावधानी पूर्वक जाँच करेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि जिम्मेदार लोगों को जवाबदेह ठहराया जाए।

नस्लीय अन्याय

महाधर्माध्यक्ष गोम्स ने कहा कि यह समझ में आता है कि विरोध प्रदर्शन "हमारे लाखों भाइयों और बहनों की न्यायसंगत निराशा और गुस्से को दर्शाता है जो आज भी उनकी जाति या उनकी त्वचा का रंग के कारण अपमान, अकर्मण्यता और असमान अवसर का अनुभव करते हैं।"

अमरीका में ऐसा नहीं होना चाहिए। नस्लवाद हमारे जीवन में लम्बे समय से सहन किया गया है।

फ्लोएड की हत्या ने अमरीका में नस्लवाद के पुराने घाव को खोला है। 23 फरवरी को 25 वर्षीय अफ्रीकी-अमेरिकी व्यक्ति अहमद मार्केज़ अर्बेरी को जॉर्जिया के ग्लिन प्रांत में ब्रन्सविक के पास बुरी तरह से गोली मार दी गई थी। 13 मार्च को 26 वर्षीय अफ्रीकी अरीकी महिला ब्रेओन्ना टेलर पर लुइसविले मेट्रो पुलिस विभाग के अधिकारियों द्वारा घातक रूप से शूट किया गया। उसी तरह 6 मई को ड्रेसजोन  'सीन’ को  इंडियानपोलिस पुलिस ने मार दिया था।

मार्टिन लूथर किंग की याद करते हुए महाधर्माध्यक्ष गोम्स ने प्रदर्शन को आवाजहीन लोगों की भाषा कहा। उन्होंने कहा कि हमें इस समय लोगों को सुनना चाहिए, इस बात को जानने के लिए कि वे अपना पीड़ा द्वारा क्या कह रहे हैं।

"अंततः हमें नस्लवादी अन्याय को उखाड़ फेंकना होगा जो आज भी अमरीकी समाज के कई क्षेत्रों को संक्रमित करता है।"

अनुचित हिंसा और विनाश

साथ ही अमरीका के धर्माध्यक्षों ने आत्म-विनाश एवं आत्म–पराजय की हिंसा की निंदा की है और कहा है कि हिंसा से कुछ हासिल नहीं होता, बल्कि बहुत अधिक खोता है। अपने पड़ोसियों की जीविका को बर्बाद करना, समुदायों को जलाना और लूटना, नस्लीय समानता और मानवीय गरिमा को आगे नहीं बढ़ाता है।

उन्होंने सभी लोगों से सच्चे और स्थायी परिवर्तन का आह्वान किया है, जॉर्ज फ्लोएड को सम्मानित करते हुए नस्लवाद एवं घृणा को अपने हृदय से दूर करने की मांग की है और सलाह दी है कि वे सभी के लिए एक जीवन, स्वतंत्रता एवं समानता के समुदाय के निर्माण हेतु समर्पित हों।

02 June 2020, 16:23