खोज

Vatican News
राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वसिक और सर्बियाई प्रोग्रेसिव पार्टी राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वसिक और सर्बियाई प्रोग्रेसिव पार्टी   (AFP or licensors)

कई चिंताओं के बीच सर्बिया में चुनाव सम्पन्न

सर्बिया की सत्तारूढ़ दल के सत्ता पर अपनी मजबूत पकड़ के कारण कोरोना वायरस महामारी के बाद से यूरोपीय राष्ट्रों में चुनाव कराने वाला पहला देश है। कोविद -19 के चल रहे मामलों की चिंताओं और विपक्षी दलों के आंशिक बहिष्कार के बावजूद रविवार को मतदान को आगे बढ़ाया गया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

बेलग्राद, सोमवार 22 जून 2020 (वाटिकन न्यूज) : राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वसिक और सर्बियाई प्रोग्रेसिव पार्टी (एसएनएस) को संसदीय और स्थानीय चुनावों में विभाजित विपक्ष से थोड़ी चुनौती मिली। कई विरोधियों ने अनुचित चुनावों का बहिष्कार किया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति व्यूसिक ने मुख्यधारा के मीडिया के साथ चुनाव अभियान को अपने नियंत्रण में कर लिया और आलोचकों पर करारा प्रहार किया।

पिछले छह महीनों में, हजारों लोगों ने राष्ट्रपति की कथित निरंकुश शैली के खिलाफ साप्ताहिक विरोध प्रदर्शन में भाग लिया। विपक्षी नेता बोरको स्टेफनोविक के हुड वाले पुरुषों द्वारा पीटे जाने के बाद वे भड़क उठे और विरोध प्रदर्शन शुरु किया। विपक्षी ने बोरको ने कहा, "मेरे सिर को पीछे से प्रहार किया गया। मैं जमीन पर गिर पड़ा और तुरंत बेहोश हो गया। जब मुझे होश आया तो उन लोगों ने मुझे फिर से मारना शुरु किया।"

राष्ट्रपति व्युसिक ने हिंसा की निंदा की। लेकिन स्टेफनोविक अभी भी उसे जिम्मेदार ठहराते हैं। उन्होंने कहा, "उन्होंने शायद आदेश नहीं दिया होगा,लेकिन उन्होंने सात साल से सर्बिया में यह माहौल बनाया, जिसमें अगर आप उनकी नीतियों से असहमत हैं, तो आप तुरंत ही देश द्रोही के रुप में देखे जाते हैं।"

खूनी युग

आलोचकों का कहना है कि यह सर्बियाई नेता स्लोबोडन मिलोसेविच के खूनी युग से मिलता जुलता है। दिवंगत बलवान नेता ने 1990 के युद्धों की देखरेख की, जिसने कम्युनिस्ट-यूगोस्लाविया को तोड़ दिया, जिनमें सर्बिया भी एक हिस्सा था।

वर्तमान राष्ट्रपति वसिक ने उस अशांत समय के दौरान सूचना मंत्री के रूप में कार्य किया। यही कारण है कि आलोचकों को राष्ट्रपति वसिक की लोकतांत्रिक प्रत्यय पर संदेह है।

लेकिन पूर्व चरम राष्ट्रवादियों का सुझाव है कि राष्ट्रपति ने अपनी उदारवादी नीति के बल पर सर्बिया को यूरोपीय संघ में प्रवेश कराया। चूंकि वे राष्ट्रपति हैं, इसलिए वे  संसद को चला नहीं सकते। लेकिन उन्होंने इस नारे के साथ अपने एसएनएस पार्टी के चुनाव अभियान का नेतृत्व किया : "अलेक्जेंडर वसिक – हमारे बच्चों के लिए।"

उन्होंने बेलग्राद में एक हालिया अभियान रैली में दावा किया कि ज्यादातर मतदाता उनकी पार्टी के विचारों का समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा, "आपने मुझे कड़े फैसले लेने और बड़े बदलाव करने के लिए चुना है। ताकि आप सर्बिया में एक बेहतर और उज्जवल भविष्य बना सकें।"

राष्ट्रपति का मानना है कि एक मजबूत जनादेश उनकी एसएनएस पार्टी के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय चुनौतियों का सामना करती है। इसमें सर्बिया के पूर्व प्रांत कोसोवो के ब्रेक्जिट के भविष्य पर पश्चिमी समर्थित शांति वार्ता शामिल है।

मतदान

लगभग 6.6 मिलियन मतदाताओं ने देश के संसद की 250 सीटों के लिए और अलग-अलग स्थानीय शासन व्यवस्था के लिए मतदान किये। बाल्कन राष्ट्र में रविवार का वोट कोरोना वायरस महामारी के बावजूद सम्पन्न हुआ।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने मतदान केंद्रों पर फेस मास्क, दस्ताने और सैनिटाइज़र प्रदान किए। मतदाताओं को उनका उपयोग करने की सलाह दी गई थी, लेकिन वे अनिवार्य नहीं थे।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार सांसदों के 250 सीटों में से राष्ट्रपति वसिक की पार्टी को 189 सीट मिली। विपक्ष ने एक सत्तावादी बहाव की निंदा की।

22 June 2020, 15:39