खोज

Vatican News
हंगरी में विश्व पृथ्वी दिवस हंगरी में विश्व पृथ्वी दिवस  (ANSA)

यूनिसेफ - 50 वें विश्व पृथ्वी दिवस पर यूनीसेफ के अध्यक्ष का बयान

50 वें विश्व पृथ्वी दिवस के अवसर पर इटली यूनिसेफ अध्यक्ष ने कहा कि पूरा विश्व कोविद-19 की महामारी से जूझ रहा है इसके अलावा एक और गंभीर खतरा है जो पहले से ही हमारे बीच है और बच्चों के जीवन को खतरे में डाल रहा है: वह है जलवायु परिवर्तन। आने वाले वर्षों में जलवायु परिवर्तन के बारे में गंभीरता से कदम उठाना है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

रोम, बुधवार 22 अप्रैल 2020 (रेई) : आज 22 अप्रैल विश्व पृथ्वी दिवस की 50 वीं वर्षगांठ है - यूनिसेफ याद रखना चाहता है कि बच्चे और युवा लोग, जैसा कि वे कोविद -19 महामारी के परिणामों का अनुभव करेंगे, सबसे गंभीर प्रभावों का भी सामना करेंगे। हमेशा इसे ध्यान में रखना महत्वपूर्ण है। जलवायु परिवर्तन और कोविद -19 में कई पहलू समान हैं:  सबसे कमजोर लोग बुरे प्रभावों को भुगतेंगे। जलवायु परिवर्तन के मामले में वे कमजोर युवा लोग हैं और कोविद -19 के मामले में वे कमजोर बुजूर्ग लोग हैं।

इटली यूनिसेफ अध्यक्ष फ्रांचेस्को सामेंगो ने अपने बयान में कहा कि बच्चे और युवा विश्व पृथ्वी दिवस पर घर से ही जलवायु परिवर्तन के लिए सक्रिय रहकर बुजूर्गों के साथ अपनी एकजुटता का प्रदर्शन कर सकते हैं, उसी तरह बुजूर्ग भी जलवायु परिवर्तन का बचाव करके युवा लोगों के साथ अपनी एकजुटता प्रदर्शित कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि युवा लोग हमें पहला उदाहरण दे रहे हैं: भले ही स्कूल बंद हो, भले ही वे सड़कों पर न उतरें, वे हमें दिखा रहे हैं कि जलवायु के लिए ऑनलाइन सक्रियता के माध्यम से एक बेहतर दुनिया पर विश्वास करना संभव है। वे  दादा-दादी,  माता-पिता साथ एकजुटता दिखाते हुए, घर से सुनाई देने वाली आवाज़ें सुना रहे हैं, ताकि हर कोई सकुशल और सुरक्षित हो।

उनका संदेश स्पष्ट है कि वे उसी प्रकार जलवायु परिवर्तन से डरते हैं जिस प्रकार लोग कोविद -19 से डरते हैं।

लेकिन इन दो खतरों में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि केवल एक साथ जुड़कर ही हम उन्हें हल कर सकते हैं। हम युवा और बुजूर्ग सभी से, इन कठिन समय में एकजुटता और सामुदायिक भावना के साथ कार्य करने का आह्वान करते हैं। हम इन भयानक खतरों का सामना करने के लिए एकजुट होकर, एकसाथ कार्य कर सकते हैं।

वैश्विक समुदाय ने दिखाया है कि संकट के समय में यह सामूहिक रूप से कैसे आगे बढ़ सकता है। वैश्विक प्रतिक्रिया में हर कोई अपनी भूमिका निभा सकता है। जब हम एक साथ काम करते हैं, तो छोटी-छोटी क्रियाएं भी बड़ी चुनौतियों को पार करने में मददगार हो सकती हैं।”

22 April 2020, 17:21