खोज

Vatican News
लाहौर धर्मप्रान्त में पाकिस्तानी ख्रीस्तीय - तस्वीर-31.01.2020 लाहौर धर्मप्रान्त में पाकिस्तानी ख्रीस्तीय - तस्वीर-31.01.2020 

पाकिस्तानः युवा ख्रीस्तीय की बर्बर हत्या की निन्दा

पाकिस्तान के ईसाई और मुस्लिम नेता सलीम के हत्यारों के लिए न्यायोचित दण्ड तथा ईसाइयों के खिलाफ हिंसा को रोकने की मांग कर रहे हैं।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

पाकिस्तान, कासूर, शुक्रवार, 06 मार्च 2020 (रेई, वाटिकन रेडियो):  पाकिस्तान के ईसाई और मुस्लिम नेता सलीम के हत्यारों के लिए न्यायोचित दण्ड तथा ईसाइयों के खिलाफ हिंसा को रोकने की मांग कर रहे हैं।

पंजाब प्रांत के कासूर ज़िले में एक 22 वर्षीय युवा ईसाई की निर्मम हत्या के बाद पाकिस्तान के ईसाई समुदायों में आक्रोश फैल गया है।

बर्बर हत्या

एक प्रभावशाली स्थानीय मुस्लिम जमींदार के नलकूप के कुएँ में स्नान करने के दौरान सलीम मसीह पर हमला किया गया था। कुएँ के पानी को प्रदूषित करने का आरोप लगाते हुए, उसके हत्यारों ने उसे क्रूरतापूर्वक प्रताड़ित किया जिससे उसके शरीर पर कई आंतरिक और बाहरी चोटें आईं।

हत्यारों ने लगभग तीन दिनों के बाद सलीम को उसके परिवार के सिपुर्द कर दिया। परिवार वाले सलीम को लाहौर के एक अस्पताल ले गये जहाँ तीन दिनों की दर्दनाक पीड़ा के बाद 28 फरवरी को सलीम ने दम तोड़ दिया।

हिंसा को रोकने की मांग

एंगलिकन ख्रीस्तीय धर्माध्यक्ष आज़ाद मार्शल रायविन्द की अध्यक्षता में लाहौर में, बुधवार को,  ख्रीस्तीय एवं मुसलमान नेताओं की एक बैठक हुई जिसमें सलीम की बर्बर हत्या की कड़ी निन्दा की गई तथा सरकार से हत्यारों को न्यायोचित दण्ड देने की मांग की गई। धार्मिक नेताओं ने कहा कि सलीम की हत्या राष्ट्र में अल्पसंख्यकों के प्रति बढ़ती असहिष्णुता का उदाहरण है। अल्पसंख्यकों के विरुद्ध हिंसा को रोकने के लिये उन्होंने पुलिस द्वारा कठोर कदम उठाये जाने की मांग की।

फीदेस समाचार एजेन्सी के अनुसार, काथलिक पुरोहित फादर नदीम ने कहा, “देश के सभी नागरिकों को किसी भी प्रकार के भेदभाव के बिना सुरक्षा प्रदान करना राज्य की जिम्मेदारी है। सभी नागरिक, सभी धर्म समान हैं, जो अपने प्रिय राष्ट्र के विकास में योगदान करते हैं इसलिये सभी समान अधिकार के हकदार हैं।" उन्होंने कहा, "हम एक राष्ट्र हैं और हमारा एक ही संविधान है। सरकार और राज्य का दायित्व है कि वह इन मूलभूत सिद्धांतों को सबके लिये समान रूप से लागू करे।"

धर्माध्यक्ष आज़ाद मार्शल ने घोषित किया कि वे अपराधियों के खिलाफ "पुलिस में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करेंगे और जब तक अपराधियों को उचित सजा नहीं मिलती तब तक पीछे नहीं हटेंगे।"

06 March 2020, 11:23