खोज

Vatican News
विभिन्न धर्मों के धर्मगुरू दिल्ली में प्रार्थना करते हुए विभिन्न धर्मों के धर्मगुरू दिल्ली में प्रार्थना करते हुए 

दिल्ली दंगा की निंदा एवं शांति हेतु प्रार्थना

विभिन्न धर्मों के धर्मगुरूओं ने 26 फरवरी को दिल्ली में देश की शांति के लिए प्रार्थना की जहाँ चार दिनों के अंदर सांप्रदायिक हिंसा में 34 लोगों की मौत हो गयी है।

उषा मनोरम ातिरकी-वाटिकन सिटी

नई दिल्ली, बृहस्पतिवार, 27 फरवरी 20 (रेई)˸ धर्मगुरूओं ने दिल्ली के सेक्रेड हार्ट महागिरजाघर में एक साथ प्रार्थना की तथा नागरिकों से शांति, अहिंसा एवं एक-दूसरे से मेल-प्रेम से रहने के रास्ते पर चलने की अपील की। 

प्रार्थना के दौरान उत्तर प्रदेश की सीमा पर दिल्ली के उत्तरी भाग में हुए टकराव में मरने वालों के लिए एक मिनट का मौन रखा गया।

प्रार्थना सभा में इस्लाम के प्रमुख ईमाम उमर अहमद ईलयासी, गुरूद्वारा बंगला साहिब के अध्यक्ष परमजीत सिन्ह चंदोक, जैन गुरू अचार्य लोकेश मुनी, स्वामी परमानन्द और दिल्ली के महाधर्माध्यक्ष अनिल जे. कुटो उपस्थित थे।

सभा में जानकारी दी गयी कि सिक्ख गुरूद्वारा एवं गिरजाघरों को दंगा पीड़ितों के लिए खुला रखा जाएगा। सभा के संयोजक ने कहा कि ईश्वर के घर में कोई भी आकर शरण ले सकता है।   

महागिरजाघर के निकट बंगला साहिब गुरूद्वारा द्वारा पीड़ितों के लिए मुफ्त भोजन, एम्बुलेंस सुविधा एवं राहत सामग्री उपलब्ध करायी जा रही है।

प्रार्थना सभा के एक प्रतिभागी ने कहा, "यही भारत की भावना है और घृणा की कितनी भी अधिकता इस भावना को नहीं बदल सकती।"

27 February 2020, 16:48