खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (AFP or licensors)

सिंध प्रांत की सरकार और पाकिस्तान कारितास भूख के खिलाफ एकजुट

पाकिस्तान में सिंध प्रांत की सरकार और कारितास पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को लागू करने की कोशिश में भूख के खिलाफ कार्यवाई में एकजुट हो गये हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

सिंध, बुधवार,15 जनवरी 2020 (रेई) : संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को लागू करने की कोशिश में, सिंध सरकार के काथलिक मंत्री अंतोनी नावेद और हिंदू राजनेता मंगला शर्मा ने 12 जनवरी को, कराची के अभिलेखागार में, कार्डिनल जोसेफ काउट्स की उपस्थिति में राष्ट्रीय न्याय और शांति आयोग (एनसीजेपी) के सदस्यों और कारितास पाकिस्तान के सदस्यों से मुलाकात की।

राष्ट्रीय अभियान

कारितास पाकिस्तान कराची के कार्यकारी निदेशक मनशा नूर ने उका न्यूज को बताया कि सरकार की नीतियों और योजनाओं में कलीसिया, मीडिया और नागरिक समाज के साथ जुड़ने के लिए तैयार है जो देश में भूख को समाप्त करने के लिए एक राष्ट्रीय अभियान शुरू कर रहे है। इस अभियान का उद्देश्य, राष्ट्र की समस्याओं के बारे में जागरूकता पैदा करने के अलावा, सरकार की नीतियों की समीक्षा करना भी है ताकि स्वयंसेवक और हितधारक अपनी गतिविधियों की बेहतर योजना बना सकें, भूख को कम करने के उद्देश्य से समर्थन उपायों को लागू कर सकें और आवश्यक पड़ने पर अपनी असंतुष्टि को प्रकट कर सकें।"

काथलिक कलीसिया का योगदान

मंत्री नावेद ने कारितास को उनके प्रयासों के लिए धन्यवाद दिया, विशेष रुप से शिक्षा, स्वास्थ्य और एकजुटता में काथलिक कलीसिया द्वारा दिए गए महान योगदान को स्वीकार करते हुए कहा कि पाकिस्तान में यह "कभी नहीं भुलाया जाएगा"। मंगला शर्मा ने काथलिक संगठनों द्वारा किए गए कार्यों की सराहना करते हुए, उनके समर्थन का वादा किया और उन्हें याद दिलाया कि "वे सामुदायिक विकास के लिए जो भी कर रहे हैं, वही उनके जीवन का उद्देश्य होना चाहिए।"

कारितास पाकिस्तान, कराची महाधर्मप्रांत के राष्ट्रीय न्याय और शांति आयोग के समन्वयक, काशिफ एंथनी के समर्थन से देश भर में गरीबी और अन्याय का कारण बनने वाली नीतियों, आदतों और दृष्टिकोण को बदलने का प्रयास करेगा, " ग्रामीण समुदाय में भूख से लड़ने और खाद्य सुरक्षा के बारे में जागरूकता बढ़ाने का प्रयास करेगा।”

15 January 2020, 17:08