खोज

Vatican News
यूक्रेन के यात्री विमान हादसे में मरे लोगों के प्रति श्रद्धांजलि यूक्रेन के यात्री विमान हादसे में मरे लोगों के प्रति श्रद्धांजलि  (ANSA)

ईरान सेना ने उक्रेन यात्री जेट को मार गिराया

ईरान ने स्वीकार किया है कि इस हफ्ते की शुरुआत में सेना ने गलती से एक यूक्रेनी यात्री जेट को मार गिराया था, एक अमेरिकी हमले में ईरानी जनरल के मारे जाने के तनाव में सभी 176 लोगों की मौत हो गई थी। संत पापा फ्राँसिस और कई अन्य नेताओं ने रचनात्मक बातचीत और बढ़ती हिंसा की अस्वीकृति का आह्वान किया है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 13 दिसम्बर 2019 (वाटिकन न्यूज) : इरान की सेना ने शनिवार को कहा कि 'ग़लती' से यूक्रेन के यात्री विमान को उसने ही मार गिराया था। इस विमान में 176 लोग सवार थे। सेना ने कहा कि यह संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ बढ़े तनाव के बीच अपनी तत्परता के उच्चतम स्तर पर था।

मानवीय भूल 

ईरान की तरफ़ से आए बयान में इसे 'मानवीय भूल' कहा गया है। ईरान ने पिछले सप्ताह के सेना के एक वरिष्ठ कमांडर कसीम सोलेमानी की मौत के जवाब में इराकी ठिकानों पर अमेरिकी सैनिकों पर एक बैलिस्टिक मिसाइल हमला किया था।

ईरान के विदेश मंत्री ने कहा कि 'संकट के समय मानव त्रुटि,' अमेरिकी दुस्साहस के कारण था। उसने सभी पीड़ितों के परिवारों और प्रभावित अन्य लोगों से माफी मांगा है।

ईरान ने कहा है कि मौत के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की जाएगी।

इससे पहले ईरान इस बात से इनकार कर रहा था कि उसने विमान को मार गिराया है। अमरीका और कनाडा ने अपनी ख़ुफ़िया सूचना के आधार पर कहा था कि ईरान ने इस विमान को मार गिराया था। यह विमान यूक्रेन की राजधानी कीएफ़ जा रहा था। इसमें 167 पैसेंजर और चालक दल के नौ सदस्य थे. इस फ़्लाइट में ईरान के 82, कनाडा के 63 और यूक्रेन के 11, स्वीडन से10, अफगान से 4, जर्मनी से 3 और ब्रिटेन से 3 नागरिक शामिल थे।

राष्ट्रपति हसन रूहानी की संवेदना

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने ट्वीट कर कहा है, ''मानवीय भूल के कारण यूक्रेन के यात्री विमान पर मिसाइल दागी गई और 176 बेगुनाहों की जान चली गई। कहां ग़लती हुई इसकी शिनाख़्त के लिए अभी जांच जारी है। इस भयावह त्रासदी के लिए जो भी दोषी होगा उसे छोड़ा नहीं जाएगा। इस विनाशकारी ग़लती के लिए इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान को घोर खेद है। पीड़ित परिवारों के साथ मेरी संवेदना है।''

13 January 2020, 15:23