खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (ANSA)

अमरीकी धर्माध्यक्षों द्वारा परमाणु निरस्त्रीकरण का आह्वान

अमरीका के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने एक वक्तव्य जारी कर परमाणु निरस्त्रीकरण के रास्ते को अपनाने का आह्वान किया है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

अमरीका, बृहस्पतिवार, 28 नवम्बर 19 (रेई)˸ संत पापा फ्राँसिस द्वारा परमाणु रहित विश्व के निर्माण की प्रभावशाली अपील एवं उनके दृढ़ कथन कि न केवल परमाणु हथियार का प्रसार, बल्कि उसे रखना भी अनैतिक है, अमरीका के काथलिक धर्माध्यक्षों ने एक वक्तव्य जारी करते हुए अपने देश से आह्वान किया है कि वह परमाणु निरस्त्रीकरण हेतु वैश्विक नेतृत्व का कार्य करें।  

अमरीकी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अंतरराष्ट्रीय न्याय एवं शांति विभाग के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष डेविड माल्लोय ने एक विज्ञप्ति जारी किया है जिसमें कहा गया है कि नागासाकी एवं हिरोशिमा में संत पापा फ्राँसिस ने परमाणु हथियारों द्वारा मानव जीवन के गंभीर खतरे की आशंका का प्रभावशाली साक्ष्य दिया। संत पापा जॉन पौल द्वितीय का अनुसरण करते हुए उन्होंने परमाणु हथियार रहित विश्व का आह्वान किया।

वैश्विक परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए प्रतिबद्धता

विज्ञप्ति में कहा गया है कि अमरीका के काथलिक धर्माध्यक्ष वैश्विक परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए दृढ़ता से प्रतिबद्ध हैं।

उन्होंने कहा, "हमने सन् 1993 में घोषित किया था कि परमाणु हथियारों का पूर्ण उन्मूलन एक नैतिक आदर्श से बढ़कर है; यह एक नीतिगत लक्ष्य होना चाहिए।" विज्ञप्ति में कहा गया है कि अमरीका एवं रूस के पास विश्व का 90 प्रतिशत परमाणु हथियार है।

रूस के साथ न्यू स्टार्ट संधि

धर्माध्यक्षों ने कहा है कि यह तथ्य अकेला, हमारे देश को पारस्परिक, सत्यापन योग्य परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए वैश्विक नेतृत्व का आह्वान करता है। रूस के साथ न्यू स्टार्ट संधि का विस्तार एक विवेकपूर्ण अगला कदम होगा।

नई सामरिक शस्त्र न्यूनीकरण संधि (न्यू स्टार्ट) पर हस्ताक्षर 8 अप्रैल 2010 को प्राग में रूस और अमरीका के बीच की गयी थी और उसे 5 फरवरी 2011 को लागू किया गया था। इसे 1991 के स्टार्ट समझौते के स्थान पर लिया गया था जो दिसंबर 2009 को समाप्त हो गई थी, और 2002 की रणनीतिक आक्रामक कटौती संधि को समाप्त कर दिया था। न्यू स्टार्ट पूर्व राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन और जॉर्ज एच.डब्ल्यू बुश द्वारा शुरू किए गए यू.एस. और रूसी रणनीतिक परमाणु शस्त्रागार को कम करने की द्विदलीय प्रक्रिया को जारी रखता है।

28 November 2019, 16:48