खोज

Vatican News
वायु प्रदूषण वायु प्रदूषण  (AFP or licensors)

यूएन प्रमुख द्वारा जलवायु परिवर्तन पर ठोस कारर्वाई का आह्वान

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव अंतोनियो गुटेर्रेस ने सितम्बर में संयुक्त राष्ट्र के आगामी जलवायु कारर्वाई शिखर सम्मेलन के मद्देनजर, बृहस्पतिवार को न्यूयॉर्क के मुख्यालय में पत्रकारों को सम्बोधित किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

उन्होंने गंभीर चेतावनी देते हुए कहा कि यदि हम जलवायु परिवर्तन पर अभी कार्रवाई नहीं करेंगे तो ये तमाम मौसम की घटनाएं सिर्फ हिमशैल के टिप हैं। जून 2019 के आंकड़ों अनुसार जून अब तक का सबसे गर्म महीना है।

जून - सबसे गर्म महीना

न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र के मुख्यालय में बृहस्पतिवार को पत्रकारों से बातें करते हुए उन्होंने कहा कि ग्रीष्म ऋतु हमेशा आती है किन्तु यह हमारे युवा काल की ग्रीष्म ऋतु के समान नहीं है यह जलवायु परिवर्तन का परिणाम है।   

संयुक्त राष्ट्र विश्व मौसम विज्ञान संगठन के रिपोर्ट अनुसार जून 2019 सबसे गर्म महीना रिकॉर्ड किया गया है। 2015 से 2019 के रिकॉर्ड पर पांच सबसे गर्म साल होने की संभावना है।

ठोस कार्रवाई

23 सितम्बर से न्यूयॉर्क में आयोजित होने वाले जलवायु कार्रवाई शिखर सम्मेलन के मद्देनजर गुटेर्रेस ने कहा कि सरकारों, व्यापारियों एवं सिविल समाज के लिए प्रवेश टिकट पर कड़ी कार्रवाई एवं अधिक विस्तृत उद्देश्य होना चाहिए।

इसकी जरूरत तब तक है जब तक कि दुनिया में तापमान को 1.5 सेलसियस तक सीमित न कर दिया जाए और जलवायु परिवर्तन के सबसे बुरे प्रभावों से बच लिया जाए। 2030 तक ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में 45 फीसदी की कटौती हो सके और 2050 तक कार्बन में कमी को संभव बनाया जाए।

हमारे पास समाधान और तकनीक हैं

उन्होंने कहा, "सुन्दर भाषण काफी नहीं हैं। नेताओं को इन लक्ष्यों तक पहुँचने के लिए ठोस योजना के साथ 23 सितम्बर को न्यूयॉर्क आना होगा।"

गुटेर्रेस के अनुसार, शुभ समाचार यह है कि हमारे पास समाधान एवं तकनीक हैं कि जलवायु संकट का सामना करने के लिए दुनिया भर में, कई सरकारें, व्यवसायी और नागरिक जुट रहे हैं। आज, प्रौद्योगिकी जीवाश्म-ईंधन संचालित अर्थव्यवस्था की तुलना में नवीकरणीय ऊर्जा को बहुत कम लागत पर वितरित करने में सक्षम है। सौर एवं पवन ऊर्जा अब लगभग सभी प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में नई ऊर्जा का सबसे सस्ता स्रोत हैं।

गुटर्रेस ने गौर कया कि कई देशों में वृक्षारोपण अभियान जलवायु लचीलापन को मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं और वित्तीय एजेंसियां वित्तीय निर्णयों में कार्बन जोखिमों का मूल्य निर्धारण कर रही हैं।

उन्होंने कहा, "हम व्यापार करते हैं, बिजली पैदा करते, शहरों का निर्माण करते और दुनिया को खिलाते हैं, इसमें तेजी से और गहरे बदलाव की जरूरत है।"

03 August 2019, 17:11