खोज

Vatican News
 शांति के लिए नोवेल पुरस्कार विजेता भारत के कैलाश सत्यार्थी से मुलाकात करते संत पापा शांति के लिए नोवेल पुरस्कार विजेता भारत के कैलाश सत्यार्थी से मुलाकात करते संत पापा  (ANSA)

सांसद द्वारा सरकार से पोप फ्राँसिस के भारत निमंत्रण का प्रस्ताव

संत पापा फ्राँसिस की यात्रा उन व्यक्तियों को सम्मानित करने के प्रति हमारे दृष्टिकोण को बढ़ाएगी जो शांति और स्थिरता को बढ़ावा देते हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

नई दिल्ली, बृहस्पतिवार, 1 अगस्त 19 (मैटर्स इंडिया) ˸ "भारतीय सरकार को संत पापा फ्राँसिस की भारत यात्रा हेतु औपचारिक निमंत्रण देना चाहिए क्योंकि भारी संख्या में लोग उनकी यात्रा का इंतजार कर रहे हैं," यह बात 31 जुलाई को लोकसभा में कॉन्ग्रेस दल के सांसद कोदिकुन्निल सुरेश ने कही।

उन्होंने कहा कि संत पापा जॉन पौल दिवतीय ने 1999 में भारत की यात्रा की थी उसके बाद किसी संत पापा ने भारत की यात्रा नहीं की है।  

सुरेश ने कहा, "यह आग्रह किया जाता है कि भारत की सरकार संत पापा फ्राँसिस को एक औपचारिक निमंत्रण दे।" उन्होंने कहा कि इस तरह के व्यक्तित्व की यात्रा उन व्यक्तियों को सम्मानित करने के प्रति हमारे दृष्टिकोण को बढ़ाएगी जो शांति और स्थिरता को बढ़ावा देते हैं।  

उन्होंने कहा कि हमारी जानकारी के अनुसार संत पापा भारत एवं पड़ोसी देशों की यात्रा का उत्सुकता पूर्वक इंतजार कर रहे हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा कि काथलिक समुदाय के अलावा, देश की एक बड़ी जनता संत पापा फ्राँसिस की भारत यात्रा की प्रतीक्षा कर रही है। यह यात्रा उन लोगों को प्रोत्साहित करेगी जो उदार कार्यों में लगे हैं, समाज से बुराइयों को दूर करना चाहते हैं तथा करूणा के उदात्त आदर्शों की ओर बढ़ना चाहते हैं।

भाजपा सदस्य निशिकांत दुबे ने सरकार से देश में यूनिफॉर्म सिविल कोड के लिए बिल लाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, "हिन्दू, मुस्लिम या ख्रीस्तीय के नाम पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। भारत में जितने लोग रहते हैं उन सभी के लिए एक कानून होना चाहिए।"

बीजेपी नेता दिलीप साकिया ने कहा कि सरकार को जनसंख्या नियंत्रण के लिए तुरंत नीति तैयार करनी चाहिए।

01 August 2019, 17:21