खोज

Vatican News
कार्डिनल पीटर टर्कसन कार्डिनल पीटर टर्कसन  

विश्व पर्यटन दिवस, युवाओं को उचित रोजगार

विश्व पर्यटन दिवस के उपलक्ष्य में वाटिकन के समग्र मानव विकास परिषद द्वारा प्रकाशित संदेश में, सरकारों का आह्वान किया गया है कि वे व्यक्ति की प्रतिष्ठा पर ध्यान केंद्रित करते हुए कार्य करें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

विश्व पर्यटन दिवस की स्थापना विश्व पर्यटन संगठन ने की है जिसे 27 जुलाई को मनाया जाता है। इस साल इसकी विषयवस्तु है- "पर्यटन एवं कार्य ˸ सभी के लिए एक बेहतर भविष्य।" संदेश में अंतरराष्ट्रीय रोजगार संगठन (आई एल ओ) के प्रयास "रोजगार का भविष्य" की याद की गयी है जो इस साल अपनी शतवर्षीय जयन्ती मना रहा है।

जड़ें और बढ़ें महत्वपूर्ण बिंदु

संदेश में कहा गया है कि "रोजगार के दृष्टिकोण से पर्यटन के विषय पर ध्यान दिया जाना आवश्यक प्रतीत होता है, विशेषकर, यह गहरी जड़ों और बढ़ती जटिलताओं के मद्देनजर उपयुक्त है जो हर तरह से, कई लोगों के लिए जीवन के रोजगार आयाम की विशेषता है।" संदेश में सभी के लिए उचित, न्यायसंगत, स्वतंत्र कार्य हेतु एक संयुक्त प्रतिबद्धता के महत्व, व्यक्ति एवं मानव विकास हेतु उसकी मौलिक आवश्यकताओं को केंद्र में रखे जाने पर प्रकाश डाला गया है। क्योंकि केवल इसी तरीके से शांति, सुरक्षा, प्रोत्साहन एवं सामाजिक समावेश को प्राप्त किया जाना संभव है।   

पर्यटन एक समग्र विकास

संत पापा फ्राँसिस ने अपनी धर्मशिक्षा में कार्य की प्रतिष्ठा पर कई बार जोर दिया है। संत पापा जॉन पौल द्वितीय ने 2003 में विश्व पर्यटन दिवस के उपलक्ष्य में अपने संदेश में, इस बात पर जोर दिया था कि पर्यटन किस तरह से सामाजिक जीवन को व्यक्त कर सकता है, वह व्यक्ति के समग्र विकास से जुड़ा है और इस सेवा को आगे बढ़ाना चाहिए।

उन्होंने कहा है कि आज पर्यटन विभाग में काम के संबंध में कई समस्याएँ हैं। कई लोग अनिश्चितता की स्थिति में काम करते हैं और कई बार तनाव के अत्यधिक जोखिम के साथ एवं आक्रामक प्रतिस्पर्धा के नियमों के दबाव में, गैर-कानूनी ढंग से, असमान वेतन, एक थका देने वाली नौकरी के लिए मजबूर हैं और अक्सर परिवार से दूर रहने की समस्याओं का सामना करते हैं।

श्रम शोषण को न

कार्डिनल टर्कसन ने आदिवासी लोगों के हितों को ध्यान में रखते हुए कहा कि हमें उन गरीब देशों को नहीं भूलना चाहिए जहाँ लोग श्रम शोषण के शिकार होते हैं। जहाँ पर्यटन के व्यवसाय से आदिवासियों को कुछ भी लाभ प्राप्त नहीं होता है। यह उन लोगों के खिलाफ हिंसा है, उनकी सांस्कृतिक पहचान और उनके क्रिया-कलापों पर दबाव डाला जाता है। यह पर्यवरण का भी शोषण है।

व्यक्ति के सुरक्षा की अपील

उन्होंने कहा कि मुलाकात पर्यटन के विकास की सबसे प्रमुख विशेषताओं में से एक है और यह पूर्वाग्रहों और रूढ़ियों के परित्याग के लिए और मैत्री-आधारित संबंधों के निर्माण के लिए भी पहला कदम है।

कार्डिनल ने राजनीतिक नेताओं से अपील की है कि वे रोजगार को महत्व दें, खासकर, जहाँ युवा पर्यटन विभाग से जुड़ें हैं। उन्होंने उस रोजगार में व्यक्ति की प्रतिष्ठा को केंद्र में रखने पर जोर दिया, जिससे हर व्यक्ति के समग्र विकास को बढ़ावा दिया जा सके और हरेक व्यक्ति के विकास द्वारा समुदायों का विकास हो सके।

25 July 2019, 17:51