खोज

Vatican News
वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो सेना उच्चाधिकारी के साथ वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो सेना उच्चाधिकारी के साथ  (ANSA)

यूएन रिपोर्ट, वेनेजुएला के राष्ट्रपति द्वारा अस्वीकार

वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार के रिपोर्ट को अस्वीकार किया है। मानवाधिकार रिपोर्ट ने दक्षिण अमेरिकी राष्ट्र के संकट में स्थिति की आलोचना की है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

काराकास, वाटिकन सिटी, सोमवार 15 जुलाई 2019 (वाटिकन न्यूज) : संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट वेनेजुएला में व्यापक मानवाधिकार हनन के बारे में विशिष्ट आरोप लगाती है। चिली के पूर्व राष्ट्रपति मिशेल बाशलेट, जो अब संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त हैं, 21 और 22 जून को वेनेजुएला का दौरा किया। वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने जोर देकर कहा कि उनपर लगाया गया सारा आरोप झूठा है। उन्होंने यह भी कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका ने विदेशों में 30 बिलियन डॉलर की तेल संपत्ति को वेनेजुएला से छीन लिया है।

वेनेजुएला के सूचना मंत्री जॉर्ज रोड्रिग्स का कहना है कि बारबाडोस में सरकार और विपक्ष के बीच पिछले सप्ताह हुई शांति वार्ता सफल रही और राष्ट्रपति मादुरो का विश्वास है कि समाधान मिल सकता है। फिर भी अंतरराष्ट्रीय पर्यवेक्षकों द्वारा निगरानी के लिए एक अंतरिम सरकार के साथ-साथ मुक्त चुनावों के लिए विपक्ष के नेता जुआन ग्वीदो की मांगों पर अभी तक सहमति नहीं बन पाई है।

लड़खड़ाते  तेल उद्योग और गंभीर रूप से तनावपूर्ण राजनीतिक व्यवस्था ने गंभीर रूप से देश को जकड़ लिया है। कुछ भी हो, वेनेज़ुएला को बिखरती अर्थव्यवस्था और राजनीनिक संकट से उबरने के लिए सालों लगेंगे।

15 July 2019, 12:00