खोज

Vatican News
त्रिपोली के एक निरोध केंद्र की बमबारी में  घायल  प्रवासी त्रिपोली के एक निरोध केंद्र की बमबारी में घायल प्रवासी 

त्रिपोली बम धमाके पर अस्ताली केंद्र प्रेस कार्यालय की टिप्पणी

त्रिपोली के एक निरोध केंद्र की बमबारी में प्रवासियों की मौत हुई। प्रवासियों के लिए लीबिया सुरक्षित स्थान नहीं है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

त्रिपोली, बुधवार, 3 जुलाई 2019 (रेई) : अस्ताली केंद्र के प्रेस कार्यालय से प्राप्त सूचनानुसार गत रात त्रिपोली के पूर्वी क्षेत्र के एक निरोध केंद्र में हुई बमबारी में 40 प्रवासियों की मौत हुई और 80 लोग घायल हो गये हैं। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। मृतक ज्यादातर उप-सहारा प्रवासी हैं। ये लोग युद्ध, उत्पीड़न, सामान्यीकृत हिंसा के कारण अपने मूल देश से भागने की कोशिश करते हैं, उन्हें निरोध केंद्रों में रहने के लिए मजबूर किया जाता है जहां उन्हें सभी प्रकार की यातनाएं दी जाती हैं। इस तरह की बमबारी उनकी पीड़ा को और बढ़ा देती है।

लीबिया एक सुरक्षित देश नहीं है, एक ऐसा देश है जहाँ लंबे समय से गृहयुद्ध चला रहा है। यहाँ राजनीतिक और सैन्य स्थिरता का अभाव है और ख़ासकर प्रवासियों को रोकने के लिए व्यवस्थित मानवाधिकारों का उल्लंघन किया जाता है।

अस्ताली सेंटर के निदेशक फादर कमिल्लो रिपामोन्ती ने घोषणा की, "हम सबूत चाहते थे कि लीबिया एक सुरक्षित ठिकाना नहीं था, अब हमारे पास सबूत है, एक निरोध केंद्र में दर्जनों मानव जीवन की कीमत पर एक परीक्षण का भुगतान किया गया है जहाँ कोई प्रवासी को नहीं होना चाहिए था। यह त्रासदी हमारी दोषी उदासीनता से हमें ऊपर उठाती है!

03 July 2019, 15:41