खोज

Vatican News
‘मरियम मस्जिद’ गालवे,आयरलैंड, ‘मरियम मस्जिद’ गालवे,आयरलैंड,  

आयरलैंड, गालवे के धर्माध्यक्ष द्वारा मस्जिद पर हमले की आलोचना

गालवे के धर्माध्यक्ष ने आयरिश शहर के बाहरी इलाके के एक मस्जिद पर हुए हमले के बाद मुस्लिम समुदाय के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

गालवे, आयरलैंड, बुधवार 30 जुलाई 2019 (रेई) : गालवे के धर्माध्यक्ष  ब्रेंडन केली ने गालवे शहर के बाहरी इलाके में रविवार 28 जुलाई रात को मस्जिद में हुए बर्बरतापूर्ण कृत्य की कड़ी निंदा की है।

रविवार रात को अज्ञात लोगों ने मस्जिद के द्वार के ताले तोड़कर अंदर घुसे। खिड़कियों को पत्थरों से मार कर तोड़ दिया और भवन के अंदर से सुरक्षा कैमरे के उपकरण को उठा ले गये।

यह दो वर्षों में ‘मरियम मस्जिद’ पर दूसरा हमला था। जून 2017 में, जब मुस्लिम रमजान की प्रार्थना में एकत्र हुए थे खिड़की के माध्यम से पत्थर फेंका गया था।

धार्मिक असहिष्णुता धर्माध्यक्षों का बयान

मेयनूथ में आयरिश काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन की आम बैठक में धर्माध्यक्षों ने आयरलैंड में नस्लवाद, नरसंहार और धार्मिक असहिष्णुता की घटनाओं की संख्या में वृद्धि पर चिंता व्यक्त की।

ये कृत्य, कभी-कभी उन लोगों द्वारा किए जाते हैं जो खुद को वफादार ईसाई मानते हैं। वे गुमनाम या सोशल मीडिया पर वार्तालाप में खुलकर मौखिक हमले या शारीरिक हिंसा का माध्यम बनते हैं।

धर्माध्यक्षों का कहना है कि "मानवीय गरिमा किसी व्यक्ति की त्वचा के रंग, उनकी राष्ट्रीयता, उच्चारण या उनके धार्मिक जुड़ाव पर निर्भर नहीं करती है। तेजी से बदलते आयरलैंड में, आपत्तिजनक भाषा का पूर्ण परहेज करते हुए, हम बिना किसी अपवाद के हर इंसान के लिए एक नए सम्मान की अपील करते हैं।"

गालवे के धर्माध्यक्ष का वक्तव्य

सोमवार को जारी अपने बयान में, गालवे के धर्माध्यक्ष ब्रेंडन केली ने कहा कि वे मस्जिद पर किए गए भयावह और दुर्भावनापूर्ण हमले के लिए दुखी और स्तब्ध हैं और वे अपराधियों के कार्यों की पूरी निंदा करते हैं।

वे अहमादिया मुस्लिम समुदाय के इमाम से मिलकर काथलिक समुदाय में फैली नाराजगी की गहरी भावना" से अवगत कराना चाहते हैं।

धर्माध्यक्ष का कहना है कि, "पूजा की जगह पर हमला ईश्वर पर हमला है और विश्वास के सभी लोगों पर हमला है। हम अपने मुस्लिम पड़ोसियों के साथ एकजुटता में खड़े हैं। हम हिंसा, विभाजन और घृणा को अस्वीकार करते हैं।"

31 July 2019, 16:09