खोज

Vatican News
जापान के नये सम्राट शपथ लेते हुए जापान के नये सम्राट शपथ लेते हुए  (ANSA)

जापान के नये सम्राट को संत पापा की शुभकामनाएँ

संत पापा फ्राँसिस ने जापान के नये सम्राट नारूहितो को शुभकामनाएँ दी तथा उनके लिए प्रार्थना अर्पित की।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

राजकुमार नारुहितो अधिकृत तौर पर बुधवार से जापान के नए राजा बने। आधी रात को सम्पन्न शाही समारोह में उन्हें राजगद्दी सौंपी गयी।

संत पापा फ्राँसिस ने 2 मई को एक तार संदेश प्रेषित कर कहा, "मैं सम्राट को उनकी राजगद्दी प्राप्त करने के अवसर पर अपनी हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभकामनाएँ अर्पित करता हूँ तथा अपनी प्रार्थना का आश्वासन देता हूँ कि वे देश की सेवा में प्रज्ञा एवं अपने समर्पण के सामर्थ्य के साथ राजगद्दी पर बैठ सकें।"

जापान के नए सम्राट नारुहितो ने अपने पहले संबोधन में विश्व में शांति के लिए प्रार्थना के साथ ही देश की जनता को भरोसा दिलाया कि वह हमेशा उनके साथ खड़े रहेंगे। नारुहितो ने इस प्रकार शपथ ली, ‘मैं संविधान के अनुरूप काम करूंगा...मेरे विचार सदैव मेरे लोगों के लिए होंगे और मैं हमेशा उनके साथ खड़ा रहूंगा।’ उन्होंने कहा कि उनके कामों में उनके पिता आकिहितो की झलक दिखाई देगी।

आकिहितो को विश्व के प्राचीनतम साम्राज्य को जनता के समीप लाने वाला माना जाता है।

संत पापा ने अपने तार संदेश में राजकुमार, शाही परिवार और जापान के सभी लोगों पर शांति और कल्याण की कामना की।

राजकुमार नारुहितो का शासनकाल ‘रिवा’ के नाम से जाना जाएगा। 59 वर्षीय नारुहितो देश के 126वें राजा होंगे। उनके पिता राजा अकिहितो ने उन्हें दुनिया के सबसे पुराने राजतंत्र की बागडोर सौंप दी है।

02 May 2019, 15:59